Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

AgustaWestland Scam : क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर SC ने जारी किया नोटिस, CBI और ED को चार हफ्ते का दिया अल्टीमेटम

देश कि सबसे बड़ी अदालत (Suprime Court) अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले (AgustaWestland Scam) के आरोपी बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स (Christian Michel James) की जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही हैं, जिसकी जांच सीबीआई (Central Bureau of Investigation) और ईडी (Enforcement Directorate) कर रही हैं।

AgustaWestland Scam : क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर SC ने जारी किया नोटिस, CBI और ED को चार हफ्ते का दिया अल्टीमेटम
X

देश कि सबसे बड़ी अदालत (Suprime Court) अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले (AgustaWestland Scam) के आरोपी बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स (Christian Michel James) की जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही हैं, जिसकी जांच सीबीआई (Central Bureau of Investigation) और ईडी (Enforcement Directorate) कर रही हैं। क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Suprime Court) ने नोटिस जारी किया है।

सीबीआई (CBI) और ईडी (ED) से चार हफ्ते के भीतर जवाब तलब करने की मांग की है। क्रिश्चियन मिशेल के वकील ने कहा कि मिशेल ने सजा का 50 फीसदी जेल में बिता चुके है, यानी अब तक लगभग आधी सजा जेल में ही पूरी हो चुकी है। वहीं, यूरोपियन वारंट इटली कोर्ट (Italy Court) ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया, वहां उन्होंने पूरा सहयोग किया, उन्हें जमानत मिलनी चाहिए। मिशेल को 5 दिसंबर, 2018 को यूएई (UAE) से भारत लाया गया था।

भारत आने पर उन्हें केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और कुछ दिनों बाद वित्तीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) द्वारा गिरफ्तार किया गया था। तब से वह तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में बंद है। मिशेल की जमानत याचिका को कई बार विभिन्न अदालतों ने खारिज कर दिया है।

मिशेल ने हाल ही में सीबीआई और ईडी द्वारा उनके खिलाफ दर्ज मामलों के संबंध में जमानत मांगी थी, इस आधार पर कि यूएन वर्किंग ग्रुप ऑन आर्बिटरी डिटेंशन (डब्ल्यूजीएडी) ने निष्कर्ष निकाला था कि उनकी नजरबंदी मनमानी थी। अपनी याचिका में, जेम्स ने तर्क दिया कि संयुक्त अरब अमीरात से भारत में उसका प्रत्यर्पण भारतीय अधिकारियों के लिए दुबई की राजकुमारी लतीफा को वापस लाने के लिए एक समान समर्थक था।

और पढ़ें
Next Story