Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गौतमबुद्ध नगर में 26 गांवों ने कोरोना को दी मात, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

गांवों को कोरोना मुक्त करने के लिए जिला प्रशासन की 30 से अधिक टीमें देहात के इलाकों में जुटी हैं, जो 15 दिन से लगातार ग्रामीण इलाकों में शिविरों का आयोजन कर वहां पर लोगों की जांच कर रही हैं और दवा की किट वितरित कर रही हैं।

गौतमबुद्ध नगर में 26 गांव ने कोरोना को दी मात, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

गौतमबुद्ध नगर में 26 गांव ने कोरोना को दी मात

Noida Coronavirus नोएडा के गांवों में कोरोना को रोकने के लिए पिछले 15 दिनों से जिला प्रशासन गांवों में विशेष अभियान (Special Campaign) चला रहा है। प्रशासन ने अभी तक 260 गांवों में शिविर का आयोजन किया है। डीएम सुहास एलवाई ने बताया कि जिले में अभी तक 26 गांव कोरोना मुक्त (26 Village Corona Free) हो चुके हैं और वर्तमान समय में इन गांवों में कोरोना का कोई भी सक्रिय मरीज नहीं है। गांवों को कोरोना मुक्त करने के लिए जिला प्रशासन की 30 से अधिक टीमें देहात के इलाकों में जुटी हैं, जो 15 दिन से लगातार ग्रामीण इलाकों में शिविरों का आयोजन कर वहां पर लोगों की जांच कर रही हैं और दवा की किट वितरित कर रही हैं। इन टीमों ने अभी तक 85 हजार से अधिक ग्रामीणों की जांच की है और 50 हजार से अधिक किट का वितरण ग्रामीण इलाकों में किया है।

हेड कांस्टेबल की संदिग्ध हालात में मौत

गाजियाबाद से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां क्राइम ब्रांच की विवेचना सेल में तैनात हेड कांस्टेबल सर्वेश कुमार की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उनका शव महरौली रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला। शिनाख्त होने पर जीआरपी ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। जीआरपी के मुताबिक शुरुआती जांच में ट्रेन हादसे में प्रवेश कुमार की मौत का अंदेशा है उसके अलावा हत्या और आत्महत्या की दिशा में भी मामले की जांच की जा रही है। थाना गुलावठी, बुलंदशहर के गांव समतोला निवासी सर्वेश कुमार करीब 25 साल पहले यूपी पुलिस में सिपाही के पद पर भर्ती हुए थे। प्रोमशन पाकर वह हेड कांस्टेबल बने थे।

लोगों से वसूली करने वाले दो लोग गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में गौतमबुद्धनगर पुलिस ने अपने आप को कथित रूप से दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा का अधिकारी बताकर लोगों से वसूली करने वाले दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आयुक्त के मीडिया प्रभारी ने बताया कि थाना सेक्टर 58 पुलिस ने सोमवार को एक सूचना के आधार पर लेबर चौक के पास से दिल्ली में रहने वाले मोहम्मद अफसर तथा वाराणसी जिला निवासी नीरज चौबे को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपी अपने आप को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा का अधिकारी बताकर वाहन चालकों से अवैध रूप से उगाही करते हैं। मीडिया प्रभारी ने बताया कि इनके पास से पुलिस ने दिल्ली क्राइम व भ्रष्टाचार विरोधी मोर्चा के नाम से दो प्रेस आई कार्ड बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि अगर कोई पुलिस कर्मी इन्हें पकड़ लेता है, तो ये लोग अपने आप को पत्रकार बता कर वहां से निकल जाते हैं।

फर्जी आधार कार्ड बनाकर मोबाइल फोन का सिम हासिल करने के आरोप में दो लोग गिरफ्तार

नोएडा थाना सेक्टर 20 पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड बनाकर उसके आधार पर मोबाइल फोन का सिम कार्ड लेने के आरोप में दो लोगों को सोमवार को गिरफ्तार किया। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि थाना सेक्टर 20 पुलिस ने एक सूचना के आधार पर सेक्टर आठ के पास से आदर्श राज तथा शाहिद रजा को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि उनके पास से पुलिस ने फर्जी तरीके से बनाए गए पांच आधार कार्ड, पैन कार्ड, डेबिट कार्ड, बटुए, फर्जी आधार कार्ड बनाकर हासिल किए गए 10 सिम कार्ड आदि बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि आदर्श तथा शाहिद शातिर अपराधी है।

रिश्वत लेने के जुर्म में कोतवाल निलंबित

गाजियाबाद के लोनी बार्डर कोतवाल को रिश्वत लेने के जुर्म में निलंबित किया गया है। जिसकी पहचान विश्वजीत सिंह के तौर पर हुई है। पुलिस उपमहानिरीक्षक अमित पाठक ने इस बार उन्हें डेढ़ लाख रुपये लेकर एक आरोपी को थाने से छोड़ने के आरोप में निलंबित किया है। करीब सात आठ साल पहले लोनी थाने में कोतवाल रहते हुए भी उन्हें गैस सिलेंडरों की अवैध रिफिलिंग कराने के मामले में निलंबित किया गया था। पुलिस उपमहानिरीक्षक अमित पाठक ने बताया कि लोनी बार्डर कोतवाल विश्वजीत के खिलाफ करीब दस दिन पहले शिकायत आई थी।

Next Story