Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विड्रॉल फार्म बिकने लगा पान ठेले में, जमकर हंगामा

आदिवासी विकासखण्ड मैनपुर के गोहरापदर जिला सहकारी बैंक में भर्रासाही के खिलाफ फूटा किसानों का गुस्सा। काउंटर से नहीं सामने के पान ठेलों से विड्रॉल खरीदना पड़ता था। किसानों ने हंगामा कर बैंक कर्मियों को ट्रैक्टर में बिठाकर थाने पहुंचाया। दो माह पहले गोहरापदर में किसानों की समस्या को दूर करने सरकार ने जिला सहकारी बैंक मैनपुर से पृथक कर अमलीपदर गोहरापदर उरमाल इलाके के 40 गांव के किसानों के सुविधा के लिए गोहरापदर में बैंक की स्थापना करवाई गई था।

विड्रॉल फार्म बिकने लगा पान ठेले में, जमकर हंगामा
X

मैनपुर. आदिवासी विकासखण्ड मैनपुर के गोहरापदर जिला सहकारी बैंक में भर्रासाही के खिलाफ फूटा किसानों का गुस्सा। काउंटर से नहीं सामने के पान ठेलों से विड्रॉल खरीदना पड़ता था। किसानों ने हंगामा कर बैंक कर्मियों को ट्रैक्टर में बिठाकर थाने पहुंचाया। दो माह पहले गोहरापदर में किसानों की समस्या को दूर करने सरकार ने जिला सहकारी बैंक मैनपुर से पृथक कर अमलीपदर गोहरापदर उरमाल इलाके के 40 गांव के किसानों के सुविधा के लिए गोहरापदर में बैंक की स्थापना करवाई गई था।

बैंक में धान खरीदी के एवज में पैसे लेने पहुंचने वाले किसानों को किसी न किसी तरह परेशान कर उनसे सुविधा के नाम पर शुल्क लिया जाता था। मंगलवार को जब परेशान किसान अकबर, फूलचंद समेत दर्जन भर किसानों के साथ पैसे आहरण व विड्रॉल के लिए परेशान किया गया, तो किसानों ने हंगामा शुरू कर दिया। काडेकेला व ढोर्रा समिति के लगभग 20 गांव के 800 किसान पैसा निकालने पहुंचे थे। भर्राशाही से त्रस्त सभी किसानों का गुस्सा फूट गया, बैंक के भीतर जमकर हंगामा मचाया, किसानों ने कर्मियों को बाहर निकाल बैंक में ताला तक जड़ दिया।

ट्रैक्टर में बिठाकर थाने लेकर पहुंचे

खजुरपदर में पुलिया निर्माण का भूमिपूजन करने पहुंची जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति ठाकुर, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ललिता यादव, धनसिंह मरकाम, भूपेंद्र मांझी व कांग्रेसियों को इसकी सूचना दिया गया। हंगामा कर रहे किसानों के बीच पहुंचे कांग्रेसियों के सामने किसानों ने एक-एक कर अपनी पीड़ा बता रहे थे। मध्यस्थता में लगे नेताओं के सामने किसान भ्रष्ट बैंक कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े रहे। किसान बैंक कर्मचारियों को थाने के सुपुर्द करना चाह रहे थे। अनहोनी की आशंका को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति ठाकुर समेत अन्य कांग्रेसी नेता किसानों के साथ ट्रैक्टर में बैठे, बैंक के प्रभारी प्रबन्धक दीपराज मसीह, कैशियर सुरेश साहू को ट्रैक्टर में लेकर देवभोग थाने पहुंचे। किसानों ने थाना प्रभारी खुमान सिंह महिलांगे के पास आप बीती बताने के अलावा लिखित में भी शिकायत दर्ज कर, भ्रष्ट बैंक कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। प्रभारी महिलांगे ने कहा कि किसानों की शिकायत व बैंक कर्मियों की तरफ से भी लिखित शिकायत मिली है। मामले की जांच कर आला अफसरों के सलाह पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

बैंक कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी

जब जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति ठाकुर को मामले की खबर लगी तो तत्काल गोहरापदर पहुंचेे और किसानों एवं बैंक कर्मियों में सुलाह कराने की कोशिश की मगर नाराज किसान नहीं माने और भारी नाराज किसान बैंक कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। किसी गंभीर अनहोनी घटना को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति ठाकुर ने किसानों और बैंक कर्मचारियों को ट्रैक्टर में बिठाकर थाना लेकर पहुंची। कई किसानोें ने बताया कि नियमानुसार विड्रॉल किसानों को बैंक से नि:शुक्ल उपलब्ध कराई जाती है, लेकिन बैंक कर्मचारियों द्वारा साठ-गांठ कर बैंक के बाहर पान दुकानों में विड्रॉल की दुकान सजा रखे है। जहां से किसानों को पैसे में विड्रॉल खरीदना पड़ रहा है। पिछले एक माह से इसकी लगातार शिकायत मिल रही थी। कई बार बैंक के उच्च अधिकारियों को भी इसकी शिकायत क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा किया गया था, लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं देने के कारण आज किसानों का गुस्सा भड़क उठा। हालांकि बैंक कर्मी अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते नजर आए।

Next Story