Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कलेक्टर की अनूठी पहल, सरकारी धन के बिना 42 बेड का ऑक्सीजनयुक्त कोविड सेंटर तैयार

बालोद जिले के अधिकारियों ने मिलकर बनाया आक्सीजन युक्त कोविड सेंटर, पहला कोविड सेंटर जिसमें नहीं किया गया सरकारी पैसा खर्च। पढ़िए पूरी खबर-

कलेक्टर की अनूठी पहल, सरकारी धन के बिना 42 बेड का ऑक्सीजनयुक्त कोविड सेंटर तैयार
X

बालोद। छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के कलेक्टर की अनूठी पहल सामने आई है, जिसकी चर्चा प्रदेश भर में हो रही है। दरअसल बालोद में सरकारी धन का उपयोग किये बिना 42 बिस्तर ऑक्सीजनयुक्त कोविड सेंटर बनकर तैयार किया गया है। कलेक्टर जनमेजय महोबे के नेतृत्त्व में जिला अधिकारियों के सहयोग से यह निर्मित किया गया है। जिले में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखकर कलेक्टर ने बिना शासकीय धन के उपयोग किये जिला अधिकारियों के सहयोग से 42 बेड का कोविड सेंटर बनवाया है, जिसमें ऑक्सीजन की सुविधा दी गई है। महज 12 दिन में निर्मित इस कोविड सेंटर को जिला अस्पताल परिसर स्थित कन्या हॉस्टल में बनाया गया है।

ऑक्सीजन की कमी होने पर मरीजों को जिले से बाहर रिफर करना पड़ता है। उक्त 42 बिस्तर कोविड सेंटर निर्मित हो जाने से बालोद निवासी कोविड पीडितों को बहुत राहत मिलेगी तथा जनहानि में भी कमी आयेगी। इस नवीन कोविड अस्पताल में सीसीटीव्ही लगाये गये हैं, जिससे मरीजों की मॉनिटरिंग की जा सकेगी। मरीजों की देखभाल के लिए डॉक्टर भी मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही नर्सिंग स्टाफ भी रहेंगे। ऑक्सीजन के लिए अलग से पाईप लाइन बिछाई गई है ताकि मरीजों को कोई परेशानी न हो। बिजली के चले जाने पर ऑक्सीजन नियमित मरीज को मिले इसके लिए जनरेटर भी लगाया गया है।

इस पहल के बाद अब जिले में कुल 339 आक्सीजन बेडेड अस्पताल उपलब्ध है। जिला अधिकारियों के सहयोग से निर्मित उक्त अस्पताल मील का पत्थर साबित होगा, जो मरीजों के निःशुल्क इलाज के लिए उपलब्ध है।

Next Story