Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मूसलाधार बारिश से जनजीवन प्रभावित, कई जिला मुख्यालयों से दर्जनों गांवों का संपर्क कटा

छत्तीसगढ़ में पिछले दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कई जिलों के जिला मुख्यालय से दर्जनों गांवों का संपर्क कट चुका है. धमतरी में बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात है. वनांचल इलाके में नदी नाले उफान पर है. दर्जनों गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से कट चुका है. नदी का पानी गांव के किनारे पहुँच चुका है. शहर के आमापारा सहित अधिकांश वार्ड में जल भराव की स्थिति है. गाँव की गलियां पानी में डूब गया है. जिला प्रशासन ने सतर्क रहने की अपील की है.

मूसलाधार बारिश से जनजीवन प्रभावित, कई जिला मुख्यालयों से दर्जनों गांवों का संपर्क कटा
X

रायपुर. छत्तीसगढ़ में पिछले दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कई जिलों के जिला मुख्यालय से दर्जनों गांवों का संपर्क कट चुका है. धमतरी में बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात है. वनांचल इलाके में नदी नाले उफान पर है. दर्जनों गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से कट चुका है. नदी का पानी गांव के किनारे पहुँच चुका है. शहर के आमापारा सहित अधिकांश वार्ड में जल भराव की स्थिति है. गाँव की गलियां पानी में डूब गया है. जिला प्रशासन ने सतर्क रहने की अपील की है.

इधर गरियाबंद में राहत और बचाव दल फंसे लोगों को निकालने का काम कर रही है. प्रभावित लोगों को मंगल भवन व पंचायतों में सुरक्षित रखने की व्यवस्था कर रही है. प्रभावित इलाकों में जनधन की हानि का रिपोर्ट प्रस्तुत करने के कलेक्टर निलेश कुमार क्षीरसागर ने निर्देश दिए हैं. सिकासेर बांध के कुल 22 गेट में से 17 गेट खोले गए हैं. 20670 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. तटीय इलाकों में अलर्ट घोषित किया गया है. कलेक्टर एसपी सहित आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं.

बालोद में बारिश से जनजीवन प्रभावित है. कई ग्रामीण इलाकों के संपर्क मुख्य मार्ग से टूट गए हैं. ग्राम पलारी से गुरुर मार्ग बन्द है. ग्राम बोरी के पास सेमरिया नाले उफान पर है. कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को अलर्ट रहने हिदायत दी है.

Next Story