Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टूलकिट मामला : संबित पात्रा को दोबारा नोटिस जारी, 26 मई को हाजिरी के निर्देश

संबित पात्रा को दोबारा नोटिस भेजकर 26 मई को व्यक्तिगत रूप से या फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है। नोटिस में कहा गया है कि अगर संबित पात्रा अपना बयान दर्ज कराने में पुलिस का सहयोग नही करेंगे तो उनपर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। पढ़िए पूरी खबर-

टूलकिट मामला : संबित पात्रा को दोबारा नोटिस जारी, 26 मई को हाजिरी के निर्देश
X

रायपुर। छत्तीसगढ़ में टूलकिट को लेकर सियासीसंबित पात्रा को दोबारा नोटिस भेजकर 26 मई को व्यक्तिगत रूप से या फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है। नोटिस में कहा गया है कि अगर संबित पात्रा अपना बयान दर्ज कराने में पुलिस का सहयोग नही करेंगे तो उनपर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। पढ़िए पूरी खबर- उबाल जारी है। वहीं रायपुर पुलिस ने मामले में पूछताछ शुरू कर दी है। इसी कड़ी में राजधानी रायपुर से भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को फिर से नोटिस जारी किया गया है। संबित पात्रा को फिर से पूछताछ के लिए नोटिस भेजी गई है। नोटिस जारी कर 26 मई को व्यक्तिगत या ऑनलाइन हाजिर होने के लिए पुलिस ने निर्देश दिए गये हैं।

पुलिस के मुताबिक संबित पात्रा को दोबारा नोटिस भेजकर 26 मई को व्यक्तिगत रूप से या फिर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है। नोटिस में कहा गया है कि अगर संबित पात्रा अपना बयान दर्ज कराने में पुलिस का सहयोग नही करेंगे तो उनपर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

संबित पात्रा को शनिवार को एक नोटिस जारी किया गया था। जारी किए गए इस नोटिस में संबित पात्रा से टूलकिट मामले में पूछताछ का जिक्र है। इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने रायपुर की सविल लाइन थाना पुलिस को मेल भेजा और रायपुर पुलिस से समय मांगा था।

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने 18 मई को अपने ट्वीटर अकाउंट से कांग्रेस का कथित लेटर पोस्ट करते हुए दावा किया कि इसमें देश का माहौल खराब करने की तैयारी की प्लानिंग लिखी है। रमन की तरफ से सोशल मीडिया पर लिखा गया कि कांग्रेस विदेशी मीडिया में देश को बदनाम करने कांग्रेस कुंभ का दुष्प्रचार और जलती लाशों की फोटो दिखाने का षड़यंत्र कर रही है। इसके बाद ऐसा नोटिस डॉ. रमन सिंह को भी भेजा गया था। उनसे 24 मई की दोपहर उनसे पूछताछ करने उसके निवास पर पुलिस पहुंची भी थी।

Next Story