Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टमाटर फिर लाल, ग्राहक बेहाल, हरी मिर्च हुई तीखी, अन्य सब्जियों के दाम भी बढ़े

कर्नाटक में एक बार फिर लॉकडाउन लागू होने का असर प्रदेश में पहुंच रहे टमाटर की कीमत पर पड़ने लगा है। पिछले दो दिनों से डूमरतराई सब्जी मंडी में दर्जनभर के बजाय गिने-चुने ट्रक टमाटर की आवक हो रही है। इसकी वजह से 40 रुपए से उछलकर टमाटर के दाम चिल्हर में फिर 60 से 70 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गया है। इसके साथ हरी मिर्ची की कीमत में भी आग लग गई है।

टमाटर फिर लाल, ग्राहक बेहाल, हरी मिर्च हुई तीखी, अन्य सब्जियों के दाम भी बढ़े
X

रायपुर. कर्नाटक में एक बार फिर लॉकडाउन लागू होने का असर प्रदेश में पहुंच रहे टमाटर की कीमत पर पड़ने लगा है। पिछले दो दिनों से डूमरतराई सब्जी मंडी में दर्जनभर के बजाय गिने-चुने ट्रक टमाटर की आवक हो रही है। इसकी वजह से 40 रुपए से उछलकर टमाटर के दाम चिल्हर में फिर 60 से 70 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गया है। इसके साथ हरी मिर्ची की कीमत में भी आग लग गई है।

मंगलवार को हरी मिर्च चिल्हर में 80 रुपए प्रति किलो बिकी। पूरे प्रदेश में प्रमुख रूप से अंबिकापुर जिले से हरी मिर्च की सप्लाई होती है, लेकिन इस साल लगातर बारिश के कारण मिर्च के उत्पादन में गिरावट आई है। किचन की सबसे जरूरी वेजिटेबल में से एक टमाटर व हरी मिर्च का इस कदर महंगा होना आम लाेगों के लिए खासी परेशानी खड़ी कर रहा है। टमाटर व मिर्च के अलावा अन्य हरी सब्जियों के दाम भी आसमान छूने लगे हैं। इससे किचन का बजट गड़बड़ा गया है। ऊपर से कोरोना व बारिश के चलते काम धंधे भी ठप पड़े हुए हैं। ऐसे में डीजल-पेट्रोल के बाद हरी सब्जियों की महंगाई ने मध्यम वर्ग, मजदूर व गरीब-किसान वर्ग की कमर तोड़कर रख दी है। सब्जी व्यापारियों का कहना है कि जब तक डीजल-पेट्रोल के दाम कम नहीं होंगे और कोराेना के बढ़ते आंकड़ों में कमी नहीं आएगी, पूरे बारिश के मौसम में हरी सब्जियां और महंगी बिकेंगी।

हरी सब्जियों के चिल्हर भाव

सेमी 120, फूलगोभी 60, करेला 60, शिमला मिर्च 80, मुनगा 80, बींस 80, अरबी 40, बैंगन 40, पत्तागोभी 40, कुंदरू 30, बरबट्टी 30 से 40 रुपए प्रति किलो बिक रही है। इसके अलावा सस्ती सब्जियों में कद्दू 20, लौकी 10, भिंडी 20, तरोई 20 रुपए प्रति किलो बिक रही है।

1200 रुपए कैरेट बिका टमाटर

डूमरतराई थोक सब्जी मंडी के व्यापारियों ने बताया कि प्रदेश में एक मात्र कर्नाटक, बेंगलुरु से होने वाली टमाटर की आवक कमजोर पड़ गई है। इसी के चलते मंगलवार को टमाटर प्रति कैरेट 1200 रुपए बिका। अगर थोक में प्रति किलो की बात करें तो अच्छी क्वालिटी का टमाटर 40 से 45 व चिल्हर में 60 से 70 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

प्रदेश के सब्जी बाजार में रोजाना टमाटर, मिर्च के अलावा अन्य हरी सब्जियों की आवक बेहद कमजोर पड़ने लगी है। कर्नाटक के से टमाटर की आवक कोराेना संक्रमण के चलते प्रभावित हो रही है। वहीं हरी मिर्च का एकमात्र स्त्राेत अंबिकापुर में इस साल मिर्च का उत्पादन कम होने से पर्याप्त आवक नहीं हो रही है।

- टी. श्रीनिवास रेड्डी, अध्यक्ष, थोक सब्जी मंडी, डूमरतराई

Next Story