Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गुरु घासीदास टाइगर रिजर्व में 4 साल बाद फिर हुआ टाइगर का दीदार...

2019 के बाद अब एक बार फिर टाइगर रिजर्व में टाइगर का दीदार हुआ है। टाइगर जनकपुर रेंज में सड़क पर देख गया है। इससे पहले टाइगर रिजर्व में बाघों की गणना के लिए यूएसए में बने 200 कैमरे लगाए गए थे। इससे इस नए टाइगर रिजर्व में कितने बाघ हैं।

गुरु घासीदास टाइगर रिजर्व में 4 साल बाद फिर हुआ टाइगर का दीदार...
X

कोरिया। छत्तीसगढ़ के गुरुघासीदास राष्ट्रीय उद्यान में टाइगर देखा गया है। इस टाइगर रिजर्व 2019 के बाद अब एक बार फिर टाइगर रिजर्व में टाइगर का दीदार हुआ है। टाइगर जनकपुर रेंज में सड़क पर देख गया है। इससे पहले टाइगर रिजर्व में बाघों की गणना के लिए यूएसए में बने 200 कैमरे लगाए गए थे। इससे इस नए टाइगर रिजर्व में कितने बाघ हैं, इसकी जानकारी अफसरों को मिल सकेगी। फिलहाल यहां दो मादा और दो नर बाघ हैं। वहीं कुछ दिन पहले तैमोर पिंघला अभ्यारण में भी एक बाघ दिखाई दिया है। इससे उम्मीद है कि यहां बाघों की संख्या बढ़ी है। बता दे कि, गुरु घासीदास टाइगर रिजर्व में कुछ दिनों पहले एक टाइगर की मौत हो गई थी।

गुरु घासीदास टाइगर रिजर्व में मध्यप्रदेश के संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान से भी टाइगर चले आते हैं और वहां के बाघ यहां-वहां हमेशा घूमते रहते हैं। जनकपुर तक तो संजय गांधी उद्यान के टाइगर पहुंच ही जाते हैं। बाघों की गणना के लिए कुछ साल पहले भी गुरु घासी दास अभ्यारण के अफसरों ने वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर नामक संस्था के साथ मिलकर 250 कैमरे लगाए थे, जिसमें 4 बाघ के बारे में पता चला था।

और पढ़ें
Next Story