Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना से बचाव के लिए ज़रूरी है यह जानकारी, मेडिकल कॉलेज के लिए भी बन रहे प्रोडक्ट्स

कोविड-19 वायरस के रोकथाम की दिशा में यूवीसी लाईट का प्रयोग कर विभिन्न तरह के उपकरण तैयार। पढ़िए पूरी खबर-

कोरोना से बचाव के लिए ज़रूरी है यह जानकारी, मेडिकल कॉलेज के लिए भी बन रहे प्रोडक्ट्स
X

रायपुर। संपूर्ण विश्व में कोविड-19 एक महामारी का रूप ले चुका है। हमारे देश में भी इस महामारी के व्यापक सामाजिक और आर्थिक प्रभाव पड़े है। पूरे विश्व में आज तक जहां एक ओर 1 करोड़ लोग इस बीमारी से संक्रमित हुए है। वहीं हमारे देश में भी 6 लाख से ज्यादा लोग इस बीमारी की चपेट में आ चुके है। वहीं इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 17 हजार से ज्यादा हो चुकी है। अमेरिका,चीन एवं अन्य यूरोपीय देशों में जहां इस बीमारी की दूसरी लहर प्रारंभ हो रही है वहीं विशेषज्ञों द्वारा हमारे देश में नवम्बर माह में यह बीमारी अपना व्यापक रूप दिखायेगी इसकी संभावना जताई जा रही है।

पूरे विश्व में इस समय इस बीमारी से बचाव के संबंध में व्यापक शोध किये जा रहे हैं। पूरे विश्व में यूवीसी लाईट का प्रयोग किसी भी सरफेस पर कोविड-19 वायरस को नष्ट करने के लिए सफलता पूर्वक किया जा रहा है। यूवीसी लाईट का प्रयोग पूर्व में ऑपरेशन थियेटर, पानी एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग द्वारा खाद्य पदार्थो इत्यादि को कीटाणुमुक्त करने के लिए किया जाता रहा है। भारत रक्षा अनुसंधान संस्थान द्वारा भी कोविड-19 वायरस के रोकथाम की दिशा में यूवीसी लाईट का प्रयोग कर विभिन्न तरह के उपकरण तैयार किये गये हैं। भारत रक्षा अनुसंधान संस्थान द्वारा प्रदत्त जानकारी अनुसार किसी भी सरफेस को कोविड-19 वायरस से मुक्त करने के लिए यूवीसी लाईट की इनटेंसिटी उस सरफेस पर 100 मिली जूल/सेंटीमीटर 2 होना आवश्यक है।

कोविड-19 वायरस को नष्ट करने के विभिन्न प्रयोगो में किसी भी अन्य तरीके की तुलना में यूवीसी लाईट का प्रयोग करना ज्यादा उपयोगी साबित हुआ है क्योंकि यूवीसी लाईट उपयोग में आसान है, यूवीसी लाईट का प्रयोग सभी तरह के वायरस, बैक्टिरिया, फंगस एवं कीटाणुओं को नष्ट करने के लिए किया जा सकता है, यूवीसी लाईट के प्रयोग से किसी भी तरह के हानिकारक अवशिष्ट प्रभाव नही पड़ता है, यूवीसी लाईट का हमारे पर्यावरण पर किसी भी तरह का दुष्प्रभाव नही पड़ता है, साथ ही यूवीसी लाईट का प्रयोग बिना हाथ लगायें सुरक्षित तरीको से किया जा सकता है। उपयोग में सस्ता होने के कारण यूवीसी लाईट का प्रयोग पूरे विश्व में बहुत तेजी से किया जा रहा है।

लक्ष्य टेक्नोक्रेट इंडिया प्रा.लि. द्वारा भारत रक्षा अनुसंधान संस्थान द्वारा तैयार की गयी तकनीकों का प्रयोग कर विभिन्न उपकरण तैयार किये गये हैं-

1. यूवीसी लैम्प:- इस लैम्प में 253.7 नैनोमीटर एवं 185 नैनोमीटर की लाईट लगायी गयी है। 253.7 नैनोमीटर लाईट के माध्यम से सीधे सरफेस पर बैक्टिरिया वायरस इत्यादि को नष्ट किया जाता है वहीं 185 नैनोमीटर रूम में उपस्थित आॅक्सीजन को ओजोन में बदल देता है। ओजोन में उपस्थित ऐक्टिव आॅक्सीजन कमरे के सभी जगहों पर पहुंच कर बचे हुए सभी किस्म के बैक्टिरिया वायरस इत्यादि को नष्ट कर देता है। कमरे को बैक्टिरिया वायरस इत्यादि से मुक्त करने के लिए कमरे के साईज के आधार पर लैम्प का प्रयोग 15 मिनट से 60 मिनट तक करना होता है। यह लैम्प घर, होटल के रूम, अस्पताल/नर्सिंग होम, स्कूल/कॉलेज के कमरों को सेनेटाईज करने के लिए उपयोगी है।

2. यूवीसी ब्लास्टर:- इस लैम्प में शक्तिशाली 253.7 नैनोमीटर एवं 185 नैनोमीटर की लाईट लगायी गयी है। इस लैम्प का प्रयोग मॉल, बडे़ शोरूम, होटल की लॉबी, रेस्टोरेंट, अस्पताल/नर्सिंग होम के वार्ड को सेनेटाईज करने के लिए किया जाता है। लक्ष्य टेक्नोक्रेट द्वारा उत्पादित रोबोटिक यूवी ब्लास्टर को रिमोट के माध्यम से भी चलाया जा सकता है।

3. यूवीसी केबिनेट:- इस केबिनेट में 253.7 नैनोमीटर एवं 185 नैनोमीटर की लाईट लगायी गयी है जिसके प्रयोग से केबिनेट में रखी गयी सभी तरह की वस्तुओं जैसेः- एन 95 मास्क, खाद्य सामग्री, मोबाईल फोन, लेपटॉप, करेंसी, ऑफिस की फाईल, पेपर, फल, सब्जियों इत्यादि को सेनेटाईज करने के लिये किया जाता है। लक्ष्य टेक्नोक्रेट द्वारा घरों, अस्पतालों/नर्सिंग होम, दुकानों, सेलून, ऑफिसों, रेस्टोरेंट के विभिन्न उपयोग हेतु एवं होटल में लगेज सेनेटाईज करने के लिए आवश्यकता अनुसार यूवीसी केबिनेट डिजाईन किये गये हैं।

लक्ष्य टेक्नोक्रेट द्वारा मध्य भारत में पहली बार यूवीसी आधारित कस्टमाईज उत्पाद तैयार करने के लिए अत्याधुनिक संयंत्र स्थापित किया गया है। संयंत्र में यूवीसी इनटेंसिटी को चेक करने की आधुनिक मशीने स्थापित की गयी है जिनके प्रयोग से उपभोक्ता को उच्च गुणवत्ता युक्त एवं भारत रक्षा अनुसंधान संस्थान द्वारा निर्धारित मापदंड अनुसार उत्पाद प्रदाय किया जाना संभव हो सका है। वर्तमान में लक्ष्य टेक्नोक्रेट द्वारा मेडिकल कॉलेज रायपुर एवं एम्स जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के लिए भी उत्पाद तैयार कर प्रदाय किये जा रहे है।

Next Story