Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजधानी वासियों का जीना मुहाल, हर दिन धरने से गलियां तक जाम, दस वार्ड के लोग हलाकान

धरना स्थल नया रायपुर के बड़े इलाकों में स्तानान्तरित करने की मांग तेज। राजधानी में हर दिन धरने से गलियां तक जाम हो रहीं। दस वार्ड के लोग हलाकान हो रहे। राजधानी वासियों का जीना मुहाल है। दिन भर से रात तक अलग-अलग मोर्चों के कई लाऊडस्पीकरों की कानफोड़ू आवाज़ से आसपास के बुजुर्गों का बीपी हाई। पढ़िए स्पेशल रिपोर्ट...

राजधानी वासियों का जीना मुहाल, हर दिन धरने से गलियां तक जाम, दस वार्ड के लोग हलाकान
X

रायपुर: बुढ़ातालाब स्थित धरनास्थल पर बुधवार को एक बार फिर चार संगठनों के आंदोलन से पूरा शहर हलाकान हो गया। बूढ़ेश्वर मंदिर चौक से बिजली ऑफिस चौक तक रास्ता ब्लॉक कर दिया गया था। इससे न सिर्फ सदर बाजार, पुरानी बस्ती, लाखेनगर, सत्तीबाजार, आमापारा तक सड़कों पर ट्रैफिक रहा, बल्कि पैदल गुजरने वाले राहगीरों को भी लंबी दूरी तय कर गंतव्य तक पहुंचना पड़ा। धरनास्थल के पास के रहवासी भी दिनभर मकानों में ही फंसे रहे।

पुरानी बस्ती से बिजली ऑफिस चौक और लाखेनगर तक जाम

दरअसल, बुधवार को धरना प्रदर्शन की वजह से बुढ़ेश्वर मंदिर और बिजली ऑफिस चौक के पास पुलिस ने सड़क पर बांस-बल्ली और टीन लगाकर स्थाई रुप से रास्ता बंद कर दिया। यहां से गुजरने वाले वाहनों के रुट बदल दिए गए। इससे दूसरी सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ गया और कदम-कदम पर वाहनों का लंबा जाम दिनभर लगा रहा।

रुट डायवर्ट करने से परेशानी

जानकारी के मुताबिक बुढ़ेश्वर चौक से बिजली दफ्तर चौक पर रोज हजार वाहनों का दबाव रहता है। बुधवार को रास्ता ब्लॉक होने की वजह से नलघर चौक से बुढ़ातालाब जाने वाले वाहनों को कोतवाली चौक की तरफ डायवर्ट कर दिया गया था। वहीं, लाखेनगर से आने वाले वाहनों को टिकरापारा रोड पर डायवर्ट कर दिया गया था। जिससे इन सड़कों पर वाहनों का दबाव बढ़ गया और सुबह से देर शाम तक वाहनों का लंबा जाम लगता रहा। मुख्य सड़कों के साथ ही गलियों में भी दिनभर वाहनों को जाम से जूझना पड़ा।

यहां दिनभर लगा रहा जाम

धरना प्रदर्शन की वजह से पुरानी बस्ती से लाखेनगर और बिजली ऑफिस रोड से कालीबाड़ी और कोतवाली की दिशा में दिनभर वाहनों का लंबा जाम लगा रहा। कोतवाली चौक से जयस्तंभ चौक और कोतवाली चौक से सदर बाजार रोड पर भी दिनभर वाहनों की कतार लगी रही। कालीबाड़ी से सिद्धार्थ चौक तक थोड़ी-थोड़ी देर में वाहनों का जाम लगता रहा। गोलबाजार की गलियों में भी वाहनों का लंबा जाम नजर आया। दिनभर में कई बार इन सड़कों पर ऐसी स्थिति बनी कि राहगीरों का पैदल गुजरना भी मुश्किल हो गया।





Next Story