Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का हाल बेहाल : समय पर नहीं पहुंचे डॉक्टर-स्टाफ, प्रसव पीड़ा से तड़पती रही महिला

राजधानी रायपुर से केवल 20 किलोमीटर दूर नगर पंचायत चंदखुरी में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य मुहैया कराने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर खोला गया है। लेकिन इस स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था इतनी लचर हो गई है कि मरीज और उनके परिजन डॉक्टर व स्टाफ का इंतजार करते रहते हैं। डॉक्टर व स्टाफ समय पर अस्पताल तक नहीं पहुंचते। पढ़िए पूरी खबर...

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का हाल बेहाल : समय पर नहीं पहुंचे डॉक्टर-स्टाफ, प्रसव पीड़ा से तड़पती रही महिला
X

आरंग। राजधानी रायपुर से केवल 20 किलोमीटर दूर नगर पंचायत चंदखुरी में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य मुहैया कराने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर खोला गया है। लेकिन इस स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था इतनी लचर हो गई है कि मरीज और उनके परिजन डॉक्टर व स्टाफ का इंतजार करते रहते हैं। डॉक्टर व स्टाफ समय पर अस्पताल तक नहीं पहुंचते। राज्य सरकार जहां अस्पतालों को डॉक्टर, स्टाफ के साथ ही उपकरण व दवाओं पर करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। समय पर आकर्षक वेतन व भत्ते दिए जा रहे हैं, लेकिन इस अस्पताल की व्यवस्थाएं ठप हो चुकी हैं। स्थिति यह है कि जिम्मेदार लोग अस्पताल का निरीक्षण तक नहीं करते हैं और डॉक्टर स्टाफ जब मन करें तब ड्यूटी आते हैं , जब मन करे तब घर चले जाते हैं।

बता दें कि जब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की पड़ताल करने हरिभूमि/आईएनएच न्यूज की टीम पहुंची तो वहां केवल एक एएनएम स्टाफ दिव्या रानी ही मौजूद थी। साथ ही वार्ड बाय दीपक यादव व दो अन्य स्टाफ से मुलाकात हुई। फिर करीब एक घंटे बाद एक फार्मासिस्ट सुनीता वर्मा पहुंची और लगभग 15 मिनट बाद डॉक्टर एएमओ के एल तिर्की पहुंचीं। उनसे बात करने पर उन्होंने कहा कि उनकी गाड़ी खराब हो गई थी। इसके बाद टीम आधे घंटे तक रूकी रही लेकिन अन्य स्टाफ पहुंचे ही नहीं थे। बता दें कि चंदखुरी स्वास्थ्य केंद्र में विगत दिनों रात में दूसरी स्टाफ नर्स को बुलाकर डिलीवरी कराई जा रही है। दरअसल 15 मई को प्रतिभा यादव 28 वर्ष नामक एक महिला प्रसव पीड़ा के दौरान रात एक बजे अस्पताल पहुंची। लेकिन स्टाफ ड्यूटी रोस्टर के हिसाब से वीणा वर्मा नर्स ड्यूटी पर ही नहीं आई। इस पर महिला के परिजनों ने एक अन्य परिचित स्टाफ नर्स से मदद मांगी। इसके बाद यह नर्स अस्पताल पहुंची और करीब तीन बजे डिलीवरी कराई।

क्या कहते हैं जबाबदार डॉक्टर-स्टॉप

जानकारी मिली है कि 15 मई की रात नाइट ड्यूटी में वीना वर्मा नामक स्टाफ नर्स की ड्यूटी थी। लेकिन वे ड्यूटी से नदारद थी। इस पर टीम ने वीणा वर्मा से फोन पर जानकारी ली तो उन्होंने कहा कि उनको ड्यूटी के बारे में कोई की जानकारी नहीं थी। वहीं आरंग ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. राय ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चंदखुरी की स्टाफ के बारे में लगातार शिकायतें मिल रही है। डिलीवरी वाली रात को जिसकी ड्यूटी लगी हुई थी, वह नहीं पहुंची, उनके ऊपर कार्रवाई की जाएगी। जबकि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चंदखुरी मेडिकल ऑफिसर डॉ. अनामिका कुर्रे ने कहा कि उनकी ड्यूटी ट्रेनिंग में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि स्टॉफ के लोग समय पर नहीं पहुंच रहे हैं तो कार्रवाई की जाएगी।



देखिए वीडियो-




और पढ़ें
Next Story