Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निलंबित एडीजी गायब, फरार मानकर पुलिस की मेडिकल इंक्वायरी

आय से अधिक संपत्ति और राजद्राेह मामले में निलंबित एडीजी जीपी सिंह की तलाशी तेज कर दी गई है। दो दिन पहले उनका बयान लेने घर में नोटिस चस्पा करने के बाद पुलिस ने अब कुछ अस्पतालों में पहरेदारी बढ़ा दी है। खबर है निलंबित एडीजी के गायब रहने के बाद पुलिस ने उन्हें फरार मानकर मेडिकल इंक्वायरी शुरू की है।

निलंबित एडीजी गायब, फरार मानकर पुलिस की मेडिकल इंक्वायरी
X
छत्तीसगढ़ पुलिस (प्रतीकात्मक फोटो)

आय से अधिक संपत्ति और राजद्राेह मामले में निलंबित एडीजी जीपी सिंह की तलाशी तेज कर दी गई है। दो दिन पहले उनका बयान लेने घर में नोटिस चस्पा करने के बाद पुलिस ने अब कुछ अस्पतालों में पहरेदारी बढ़ा दी है। खबर है निलंबित एडीजी के गायब रहने के बाद पुलिस ने उन्हें फरार मानकर मेडिकल इंक्वायरी शुरू की है। इसी कड़ी में उनके करीबियों के साथ अब डॉक्टरों से भी संपर्क साधा जा रहा है।

पुलिस को मालूम हुआ है कि उनका शहर के कुछ बड़े अस्पतालों में आना जाना लगा रहता था। वे स्वास्थ्यगत कारणों से अस्पतालों के भी संपर्क में थे। ऐसे में पुलिस अब इस तरफ भी इन्वेस्टिगेशन कर रही है। पहले तक टैगोर नगर स्थित बंगले में रेकी बढ़ाई गई थी। अब मेडिकल इंक्वायरी के तहत दूसरे और जगहों में भी पुलिस सादी वर्दी में निगरानी करा रही है। रायपुर पुलिस ने दुर्ग में दर्ज अपराधों के बारे में भी पड़ताल शुरू की है। दुर्ग में दबाव बनाकर वसूली करने के आरोपों के बीच एडीजी सिंह के रायपुर की गतविधियों की भी कड़ियां जोड़कर उनके करीबियों तक तक पहुुंचने की कोशिश है।

जवाब नहीं तो फिर से रिमाइंडर

कोतवाली पुलिस ने दो दिन पहले निलंबित आईपीएस अफसर के घर नोटिस जारी कर बयान के लिए तलब किया था। निलंबित एडीजी घर पर नहीं मिले तो उनके परिजनों से नोटिस तामिल कराकर उन्हें मोहलत दी। अब पुलिस दोबारा रिमाइंडर जारी करेगी। एक करीबी अफसर ने बताया है कि रिमाइंडर के बाद भी अगर एडीजी थाना में बयान देने हाजिर नहीं हुए तो उनकी गिरफ्तारी के लिए ईनाम राशि की घोषणा संभव है।

कुछ और करीबियों का पता ढूंढा

एसीबी की तरफ से निलंबित एडीजी से करीबी ताल्लुकात रखने वालों के यहां छानबीन किए जाने के बाद अब कोतवाली पुलिस की टीम भी नए ठिकानों पर जांच कर सकती है। एसएसपी रायपुर ने संकेत दिए हैं कि उन्हें एडीजी के संबंधितों के बारे में पता चला है जहां पर उनका काफी समय से आना जाना है। ऐसे में वहां भी पूछताछ हो सकती है।

मेडिकल इंक्वायरी करेंगे

एडीजी के पते पर नोटिस जारी किया था। अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कराने के बाद अब पुलिस मेडिकल इंक्वायरी करेगी। मालूम हुआ है स्वास्थ्यगत कारणों से निलंबित एडीजी का वहां आना जाना रहता था।



Next Story