Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बीजापुर में मिली पाषाणकालीन मूर्तियां, ग्रामीणों में कौतूहल

जानकारी के मुताबिक बस्तर का बीजापुर जिला रायल सीमा क्षेत्र में आता था, पूर्व में भी महाराष्ट्र व वर्तमान सीमांध्र राज्य के कुछ हिस्सों में पाषाण युग के लैंडमार्क्स मिले हैं। पढ़िए पूरी खबर-

बीजापुर में मिली पाषाणकालीन मूर्तियां, ग्रामीणों में कौतूहल
X

बीजापुर। जिले के उस्कालेड गांव के जंगलों में पाषाणकालीन मूर्तियां ग्रामीणों को मिली हैं। मूर्तियां पाषाण से बनी होने के कारण आम लोगों के बीच यह कौतूहल का विषय बन गया है। जानकारी के मुताबिक बस्तर का बीजापुर जिला रायल सीमा क्षेत्र में आता था। पूर्व में भी महाराष्ट्र व वर्तमान सीमांध्र राज्य के कुछ हिस्सों में पाषाण युग के लैंडमार्क्स मिले हैं। आंध्र के इतिहास और संस्कृति में कई क्षेत्र में पाषाण कालीन मूर्तियां अभी भी विद्यमान हैं।

वनांचल उस्कालेड ग्राम में प्राचीन पाषाण मूर्तियां जमीन के ऊपर देखने को मिली है। वहीं कुछ मूर्तियां जमीन के अंदर भी दबी हुई हैं। मूर्तियों को देखने से प्रतीत होता है कि पत्थरों से निर्मित ये मूर्तियां प्राचीन काल की हो सकती है। ग्रामीणों के अनुसार ये मूर्तियां पूर्वजों के समय की है।

क्षेत्रीय विधायक विक्रम शाह मंडावी के क्षेत्रीय भ्रमण व जनसंपर्क के दौरान ग्रामीणों ने इस संबंध में विधायक को अवगत कराते हुए मन्दिर निर्माण करने में सहयोग की मांग की है। वहीं ग्रामीणों ने कहा कि विधायक ने ग्रामीणों की धार्मिक भावना का सम्मान करते हुए इस ओर शासन का ध्यान आकृष्ट कर मन्दिर निर्माण के लिए हर संभव मदद की बात कही है।

Next Story