Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SPECIAL REPORT: बाझीमौहा जर्जर स्कूल में छात्र छात्राएं पढ़ने को हैं मजबूर

स्कूली छात्र-छात्राओं के सिर पर मंड़रा रहा खतरा, जिम्मेदार बेपरवाह। बरबसपुर विकासखण्ड अंतर्गत बाझीमौहा स्कूल मरम्मत की दरकार स्कूल भवन की दीवार और स्कूल भवन की छत से गिर रहा प्लास्टर। खतरे के बीच शिक्षा ग्रहण करने के लिए छात्र-छात्राएं मजबूर है। शासकीय प्राथमिक स्कूल बाझीमौहा के स्कूल भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त जर्जर हो चुका हैं। पढ़िए स्पेशल रिपोर्ट..

SPECIAL REPORT: बाझीमौहा जर्जर स्कूल में छात्र छात्राएं पढ़ने को हैं मजबूर
X

कवर्धा: इसके बाद भी छात्र-छात्राओं को जर्जर स्कूल भवन में बैठ कर शिक्षा ग्रहण करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। शिक्षा के मंदिर में विद्यार्थी अपना नीव गढ़ रहे, जर्जर स्कूल स्थिति में विद्यार्थीयों पर कभी भी अनहोनी घटनाएं घटित हो सकता है।

शासकीय प्राथमिक बाझीमौहा स्कूल भवन की स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बारिश होने पर छत से पानी टपकने लगता है और दीवार क्षतिग्रस्त हो चुका है तथा जर्जर हो चुके हैं। कभी भी दीवार भरभरा कर गिर सकता है जिससे कभी भी अनहोनी हो सकता है।

बाझीमौहा स्कूल में बच्चों की दर्ज संख्या 50 से अधिक है, लेकिन स्कूल भवन वर्षों पुराने होने के कारण प्लास्टर गिर रहा हैं और छड दिखाई देने लगा हैं तथा कभी भी छत और दीवार भसक सकता है। शाला विकास समिति के अध्यक्ष खेलावन यादव ने स्कूल प्रारंभ होने से पहले भवन की मरम्मत कराने की मांग की ताकि स्कूल के बच्चे और शिक्षक-शिक्षिकाओं को खतरा से बचा जा सकें, और राहत मिल सके।

लेकिन इस ओर जिम्मेदार कोई ध्यान नही दिया। शाला समिति के अध्यक्ष ने बताया कि जिस तरह अधिकारियों की आफिस होता उसी तरह शिक्षा के मंदिर भी होना चाहिए, ताकि पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में स्कूली बच्चों और शिक्षकों को कोई दिक्कत ना हो।

Next Story