Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

62 हजार राशन कार्ड को आधार से जोड़ने विशेष अभियान

अगस्त से शुरू होगा वन नेशन वन राशनकार्ड

62 हजार राशन कार्ड को आधार से जोड़ने विशेष अभियान
X

रायपुर. वन नेशन वन राशनकार्ड अगस्त से प्रारंभ करने के लिए सभी राशन कार्डधारी परिवार के सदस्यों का आधार लिंकिग के लिए विशेष अभियान शुरू हो गया है। आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से राशन सामग्री वितरण एवं पोर्टेबिलिटी का उपयोग किया जा सकेगा। कार्डधारियों को इससे अपनी पसंद की उचित मूल्य दुकान से राशन प्राप्त करने की सुविधा मिलेगी। प्रदेश में 62 हजार राशनकार्ड के 7.17 लाख सदस्यों का आधार सीडिंग 31 जुलाई तक पूरा करने का टारगेट रखा गया है।

इनमें बस्तर संभाग के कई जिलों में राशनकार्ड का आधार सीडिंग नहीं हो पाया है। 10 से 31 जुलाई तक विशेष अभियान चलाकर आधार लिंकिग का कार्य पूर्ण करने कहा गया है। विभाग के खाद्यान्न वितरण में पारदर्शिता लाने और प्रत्येक राशनकार्डधारी हितग्राही को उचित मूल्य की दुकानों से खाद्यान्न उठाने की सूचना उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबरों पर एसएमएस के माध्यम से भी दिए जाने की योजना है। राज्य में नए सिरे से राशनकार्ड नवीनीकरण के दौरान आधार सीडिंग पर जोर दिया गया था। राज्य शासन ने 66.21 लाख राशनकार्ड बनाए हैं, इनमें से 65.58 राशनकार्ड का आधार सीडिंग किया जा चुका है। प्रदेश के आए प्रवासी मजदूरों के बनने वाले राशनकार्ड को भी इस अभियान से जोड़ा जा रहा है। खाद्यमंत्री अमरजीत भगत ने बताया कि सभी जिलों के खाद्य अधिकारियों को इस अभियान को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। विभाग ने मामले में खाद्य अधिकारियों से कहा है कि जिलों में कोई भी राशनकार्ड का आधार सीडिंग शेष न रहे। खाद्यान्न वितरण में पारदर्शिता लाने का प्रयास इसके माध्यम से होगा। लोगों को इससे कहीं से भी राशन उठाने की सुविधा भी मिलेगी।

बस्तर संभाग में ज्यादा मामले

योजना के तहत बस्तर संभाग के अधिकतर जिलों में आधार सीडिंग शेष है। दंतेवाड़ा जिले में सबसे अधिक 10 हजार 936 राशन कार्ड शामिल हैं। सुकमा में 9055, बीजापुर में 6179, नारायणपुर में 2717, बस्तर में 3545, कोंडागांव में 2349 और कांकेर में 981 राशनकार्ड धारी के परिवार के सदस्यों का आधार नंबर नहीं मिल पाया है।

रायगढ़ और जांजगीर में भी हजारों कार्ड

राशनकार्ड को आधार से लिंक करने के मामले में अन्य मैदानी जिलों में भी हजारों मामले हैं। इनमें जांजगीर-चांपा में 2807, बेमेतरा में 1605, रायपुर में 1173, राजनांदगांव में 1710, कवर्धा में 1733, महासमुंद में 1314 और रायगढ़ में 3093 राशनकार्ड आधार सीडिंग के लिए शेष हैं।

Next Story