Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गंभीर आरोप : बिजली विभाग में ऐसी नियुक्ति क्यों, जिसमें इतनी त्रुटि है..?

शिकायतकर्ताओं का आरोप- जिनकी नियुक्ति होनी है उनका नाम पहले से ही तय । पढ़िए पूरी खबर-

गंभीर आरोप : बिजली विभाग में ऐसी नियुक्ति क्यों, जिसमें इतनी त्रुटि है..?
X

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग में सचिव के पद पर नियुक्ति को लेकर विवाद शुरू हो गया है। नियुक्ति संविदा या प्रतिनियुक्ति पर होनी है, इसके लिए विज्ञापन भी जारी किया जा चुका है। इस मामले में विवाद तब शुरू हुआ जब इस पद की दौड़ में शामिल कुछ लोगों ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर शिकायत कर दी।

पत्र में उल्लेख किया गया है कि छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग में सचिव पद पर नियुक्ति के लिए एक विज्ञापन निकाला गया है, जिसमें आवेदक की उम्र 64 वर्ष मांगी गई है। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि विज्ञापन इस प्रकार बनाया गया है, जैसे जिनकी नियुक्ति होनी है उनका नाम पहले से ही तय है।

शिकायत में बताया गया है कि पद के लिए अधिकतम आयु सीमा 64 वर्ष रखी गई है। हालांकि आयोग की वेबसाइट पर जारी सूचना में राज्य सरकार के संविधान नियमों के तहत नियुक्ति की जानकारी दी गई है।

पत्र में आरोप लगाया गया है कि ऊर्जा विभाग में ओएसडी के पद से रिटायर हुए एक अफसर के लिए यह विज्ञापन निकाला गया है, जो सिविल इंजीनियर है जबकि आयोग में मुख्य रूप से इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की जरूरत होती है। इसके अलावा सहायक के रूप में मेकेनिकल इंजीनियर की जरूरत होती है।

इसके अलावा पत्र में यह आरोप भी लगाया है कि ओएसडी रहने के दौरान उक्त अफसर ने कमीशन के अध्यक्ष को अप्रत्यक्ष रूप लाभ पहुंचाया है। इस तरह से दोनों की पुरानी सांठ-गांठ होने की वजह से यह खेल खेला जा रहा है और यह विज्ञापन औपचारिकता मात्र है।

Next Story