Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना की दूसरी लहर, 1273 मामलों के साथ छत्तीसगढ़ में दिसंबर जैसी स्थिति

लगातार बढ़ते आंकड़ों के साथ प्रदेश में कोरोना वायरस की डरावनी तस्वीर सामने आई है। कुल 1273 मामलों और दस मौतों के साथ यह महामारी दिसंबर वाली स्थिति तक पहुंच गई है। रायपुर में शनिवार को 426 का विस्फोट हुआ है, वहीं दुर्ग में 391 लोगों को कोरोना ने अपना शिकार बनाया है।

हिमाचल प्रदेश की सोलन कारागार में 65 कैदी निकले कोरोना पॉजिटिव, जेल अधीक्षक ने दी जानकारी
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

रायपुर. लगातार बढ़ते आंकड़ों के साथ प्रदेश में कोरोना वायरस की डरावनी तस्वीर सामने आई है। कुल 1273 मामलों और दस मौतों के साथ यह महामारी दिसंबर वाली स्थिति तक पहुंच गई है। रायपुर में शनिवार को 426 का विस्फोट हुआ है, वहीं दुर्ग में 391 लोगों को कोरोना ने अपना शिकार बनाया है।

को-मार्बिडिटी के मरीजों के लिए तो कोरोना यमदूत बन चुका और इसकी चपेट में आने वालों की बड़ी संख्या में मौत हो रही है, जिसे रोकने स्वास्थ विभाग का अमला पूरी तरह नाकाम साबित हो रहा है। कोरोना के मामले कम होने के बाद बरती जाने वाली ढिलाई ही इस खतरनाक वायरस की वापसी का मुख्य कारण बनी है।

लापरवाह लोग अभी भी लापरवाही बरतकर इसे खुला न्योता दे रहे हैं। वर्तमान में शहर में खुले में बिना किसी सुरक्षा के घूम रहे लोग और ठेले-खोमचे में लगी भीड़ इस वायरस को खुला न्योता दे रही है। प्रदेश में कोरोना का ग्राफ 8 फरवरी को 320 संक्रमितों के साथ बढ़ना चालू हुआ और अभी 1273 की संख्या को पार कर चुका है। बढ़ते मामले प्रशासन को सख्ती बरतने पर मजबूर कर सकते हैं। शनिवार को :शेष पेज 13 पर

प्रदेश में 36 हजार 393 लोगों की जांच

हुई, जिसमें बड़ा आंकड़ा सामने आया है। वहीं स्वस्थ होने वालों की संख्या 287 रही और एक्टिव केस बढ़कर 7693 तक पहुंच गया है।

रायपुर में 2481 एक्टिव

रायपुर जिले में एक्टिव केस की संख्या ढाई हजार के करीब पहुंच गई है, वहीं दुर्ग में 2251 सक्रिय केस हैं। शनिवार को रायपुर-दुर्ग के अलावा राजनांदगांव में 71, बिलासपुर में 50, सरगुजा जिले में 49, बेमेतरा 29, कोरिया 26, महासमुंद-जशपुर 25, रायगढ़ 23, बलौदाबाजार में 20 तथा अन्य जिले में कम मामले सामने आए हैं।

नौ मौतें रायपुर-दुर्ग में

कोरोना की वजह से पिछले चौबीस घंटे में दस लोगों ने दम तोड़ा है। इसमें रायपुर जिले में 5 ने जान गंवाई है और दुर्ग में 4 की मौत हुई है। एकमात्र मामला सरगुजा से संबंधित है। प्रदेश में अब तक इस महामारी की चपेट में आकर 3940 ने जान गंवाई है, जिसमें से सबसे ज्यादा मामले रायपुर और दुर्ग जिले से संबंधित हैं।

और पढ़ें
Next Story