Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्काईवॉक पर बोले राजेश मूणत- 'देर आये दुरुस्त आये'

कहा- निर्माण शुरु होने के दौरान किसी ने विरोध नहीं किया था। पढ़िए पूरी खबर-

स्काईवॉक पर बोले राजेश मूणत- देर आये दुरुस्त आये
X

रायपुर। अधूरे पड़े स्काई वॉक को लेकर अब तह चल रही अटकलों पर गुरुवार को विराम लग गया। स्काई वॉक को लेकर बनाई गई सुझाव समिति ने इसे पूरा करने का फैसला ले लिया है। अधिकारियों को निर्माण पूरा करने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश भी दिए गए हैं। जबकि इसके पहले इसे तोड़े जाने की भी खबरें आ रही थीं। लेकिन अब साफ हो गया है कि स्काई वॉक का काम पूरा होगा। वहीं स्काईवाक के फिर से निर्माण पर राजेश मूणत का बयान सामने आया है। राजेश मूणत बोले- 'देर आए दुरुस्त आए। पहले ही दिन यह फैसला हो जाना चाहिए था। 18 महीने में प्रोजेक्ट की लागत बढ़ेगी। '

निर्माण एजेंसी और ठेकेदार को लेकर राजेश मूणत ने सवाल उठाते हुए कहा कि- 'निर्माण शुरु होने के दौरान किसी ने विरोध नहीं किया था। सिर्फ तत्कालीन कांग्रेस विधायक रेणु जोगी ने ही स्काईवॉक पर आपत्ति जताई थी। शहर की संभावनाओं और आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए स्काईवाक का फैसला लिया गया था। सर्वे के आधार पर स्काईवाक बनाने का फैसला लिया गया था।'

मूणत ने आगे कहा कि- 'हर वर्ग को सुविधा देने की योजना थी। लिफ्ट, एस्केलेटर, सीसीटीवी, कैमरे, चैनल गेट जैसे तमाम सुविधाओं से स्काईवॉक को लैस होना था। हमने शहर के लोगों के लिए निर्माण किए। जब काम होगा तभी उसकी प्रतिक्रिया भी सामने आएगी। इसी तरह तेलीबांधा तालाब का भी विरोध किया गया था। आज लोग तेलीबांधा तालाब के फोटो के साथ विज्ञापन छपवाते हैं।'

बता दें स्काई वाक का काम भाजपा के शासन काल में शुरू हुआ था, जब पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत थे। अब भूपेश सर्कार ने सिरपुर भवन में हुई सुझाव समिति की बैठक में यह फैसला लिया है कि स्काई वॉक का काम पूरा होगा। बैठक में लिए गए फैसले के मुताबिक रायपुर के स्काई वॉक को कम से कम खर्च में पूरा किया जाएगा।

स्काई वॉक के काम की मॉनिटरिंग के लिए सत्यनारायण शर्मा की अध्यक्षता में कमेटी बनाई जाएगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुझाव समिति की बैठक में यह बात निकलकर सामने आई कि जब पहले ही स्काई वॉक के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए जा चुके हैं तो ऐसे में इसे पूरा किया जाना ही उचित है।

Next Story