Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ज्वेलर्स से मिला साढ़े चार किलो सोना और पांच टन चांदी, जेवर ले जाने मेटाडोर मंगाना पड़ा

राज्य और सेंट्रल की टीम ने की छापामार कार्रवाई

ज्वेलर्स से मिला साढ़े चार किलो सोना और पांच टन चांदी, जेवर ले जाने मेटाडोर मंगाना पड़ा
X

राजनांदगांव. शहर के नंदई रोड स्थित शांतिलाल बैद फर्म मोहनी ज्वेलर्स में डायरेक्ट्रेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस के छापे में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। दो दिन चली पड़ताल में यहां इतना सोना और चांदी की बरामदगी हुई है कि अफसरों को जेवर ले जाने के लिए मेटाडोर का इंतजाम करना पड़ा। जांच में कुल साढ़े चार किलो सोना और पांच टन चांदी के साथ 32 लाख रुपए नकद बरामद हुए हैं।

गौरतलब है कि एक मई को राज्य से इंटेलिजेंस की टीम द्वारा बैद फर्म के मोहनी ज्वेलर्स में दबिश दी गई। यहां पिछले दो दिनों से जांच पड़ताल चलती रही। काफी पहरेदारी के बीच चली इस पड़ताल में व्यापक पैमाने पर सोना और चांदी मिलने से टीम के होश उड़ गए।

वजनी ज्वेलर्स बरामद किए जाने के बाद जांच टीम ने स्थानीय पुलिस प्रशासन से वाहन की व्यवस्था करने की मांग की। जिसके बाद स्थानीय पुलिस द्वारा एक मेटाडोर की व्यवस्था कराई गई। जिसमें भारी मात्रा में सोना और चांदी लेकर अफसरों की टीम सोमवार को वापस लौट गई। ज्वेलर्स दुकान में छापामार इस कार्रवाई से सराफा बाजार में जहां खलबली मची रही। वहीं पहली बार इतनी बड़ी तादाद में ज्वेलरी जब्त होना भी चर्चा का विषय बना रहा।

32 लाख रुपए नगद बरामद

एएसपी कविलाश टंडन ने बताया कि जांच टीम ने जानकारी दी है कि जांच में पांच टन चांदी और साढ़े चार किलो सोना बरामदगी के साथ ही 32 लाख रुपए नगद जब्त किए गए हैं। उन्होंने बताया कि ज्वेलर्स के यहां से कुछ परिजनों को पूछताछ के लिए टीम अपने साथ ले गई है।

पहली बार बड़ी कार्रवाई ने चौंकाया

सराफा बाजार में इस बात की भी चर्चा है कि इतनी बड़ी कार्रवाई पहली बार हुई है। जिसमें इतने तादाद में सोना और चांदी जब्त किया गया है। तस्करी के मामले से जुड़े इस मिशन को पूरा करने ही राज्य की टीम यहां पहले पहुंची। जिसके बाद सेंट्रल की कस्टम विभाग की टीम ने यहां दबिश दी है।

कार्रवाई पूरी

राज्य और केन्द्र की टीम ने मोहनी ज्वेलर्स में दबिश देकर पांच टन चांदी और साढ़े चार किलो सोना के साथ ही 32 लाख रुपए नगद बरामद की है, जिसे जांच टीम अपने साथ ले गई है। स्थानीय स्तर पर टीम को पुलिस बल मुहैया कराया गया था।

-कविलाश टंडन, एएसपी, राजनांदगांव

Next Story