Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सब्जियों के दाम छू रहे आसमान, बारिश और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत बनी वजह

सप्ताह भर से लगभग सभी सब्जियों के दामो में हो रहा लगातार इजाफा। पढ़िए पूरी खबर-

सब्जियों के दाम छू रहे आसमान, बारिश और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत बनी वजह
X

रायपुर। बारिश होने के साथ और पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का सीधा असर आम जनजीवन पर दिखने लगा है। पेट्रोल और डीजल के बढ़ती कीमतों का असर सब्जियों के दाम पर भी देखने को मिला है। सप्ताह भर से लगभग सभी सब्जियों के दामो में लगातार इजाफा हो रहा है।

एक सप्ताह पहले तक 30 रुपये किलो बिकने वाला टमाटर आज 40 और 50 रुपए किलो बिक रहा है। करेला 60 रुपए किलो, बरबटी 30 रुपए किलो, अरबी 30 से 40 रुपए, आलू 20 से 30 रुपए, बैगन 10 रुपये से सीधा 25 रुपए प्रति किलो वहीं प्याज के दामो में राहत है, प्याज अभी 10 और 15 रुपए किलो बिक रही है।

इस मामले में व्यापारियों का कहना है कि बारिश की वजह से स्थानीय क्षेत्र से आने वाली सब्जियों की खेती में असर पड़ा है। यही कारण है कि सब्जियों की आपूर्ति प्रभावित हुई है। प्रदेश के कई फार्म हाउस में सब्जियों का उत्पादन होता है लेकिन लगातार तीन दिनों से हुई बारिश की वजह से नदियों का जल स्तर बढ़ गया है, जिससे सब्जियों की फसलें प्रभावित हो रही हैं। वहीं गाड़ियों में लदी सब्जियां भी बारिश में खराब हो गई है। ऐसे मौसम में अक्सर सब्जी के आवक में कमी होती है।

कोरोना वायरस का संक्रमण भी बना वजह

कारोबारियों ने बताया कि सब्जियों के दाम बढ़ने का एक कारण महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते प्रसार की वजह से ट्रांसपोर्ट प्रभावित होना भी है। अमूमन महाराष्ट्र से आने वाले सब्जियों से बाजार में सब्जियों की आपूर्ति होती थी लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते अन्य राज्यों से भी सब्जी की आवक में कमी आई है। राजधानी में फ़िलहाल कर्नाटक की सब्ज्यों से पूर्ति हो रही है।

Next Story