Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खुलेगा पुलिस का 'शौर्य' रेस्टोरेंट, पहला स्वाद बालोद से, महिला समूह को कमान

पुलिस परिवार की महिलाएं अब रेस्टाेरेंट भी संभालेंगी। पेट्रोप पंप की तर्ज पर खुलने वाले रेस्टोरेंट-ढाबा में रसोई संभालते हुए महिला समूह की सदस्य पुलिस कल्याण कोष के लिए आमदनी जुटाएंगी। ऐसा पहला प्रयोग बालोद जिले में होगा, जहां पुलिस के रेस्टोरेंट का पहला स्वाद आमजन चख सकेंगे। बालोद स्थित धनोरा बटालियन में हाल में नए पेट्रोल पंप का उद्घाटन होने के साथ यहां ठीक बाजू में रेस्टोरेंट-ढाबा भी खोले जाने की तैयारी है।

खुलेगा पुलिस का शौर्य रेस्टोरेंट, पहला स्वाद बालोद से, महिला समूह को कमान
X

रायपुर. पुलिस परिवार की महिलाएं अब रेस्टाेरेंट भी संभालेंगी। पेट्रोप पंप की तर्ज पर खुलने वाले रेस्टोरेंट-ढाबा में रसोई संभालते हुए महिला समूह की सदस्य पुलिस कल्याण कोष के लिए आमदनी जुटाएंगी। ऐसा पहला प्रयोग बालोद जिले में होगा, जहां पुलिस के रेस्टोरेंट का पहला स्वाद आमजन चख सकेंगे। बालोद स्थित धनोरा बटालियन में हाल में नए पेट्रोल पंप का उद्घाटन होने के साथ यहां ठीक बाजू में रेस्टोरेंट-ढाबा भी खोले जाने की तैयारी है।

डीजीपी डीएम अवस्थी से मंजूरी मिलते ही इसके लिए पांच लाख रुपए की लागत से ढाबा निर्माण किया जाएगा। प्रदेश में इस तरह के पहले इंतजाम में ढाबा से जितनी कमाई होगी, उसे पुलिस कल्याण कोष के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा। विभाग के करीबी सूत्र के मुताबिक सेनानी 14वीं वाहिनी छस बल धनोरा जिला बालोद द्वारा रेस्टोरेंट संचालन के लिए स्व-सहायता समूहों का गठन भी कर दिया गया है। महिला समूह में पुलिस परिवार की गृहणियां शामिल हैं, जो अपने हिसाब से रेस्टोरेंट का संचालन करेंगी। रसोई से लेकर रेस्टोरेंट में बनने वाली सामग्री को बेचने और पुलिस कल्याण कोष के लिए राशि जुटाने योजनाएं भी बनाएंगी।

अब तक प्रदेशभर में पेट्रोल पंप

पुलिस विभाग द्वारा अभी तक शौर्य पेट्रोल पंप के नाम से कई जगहों पर संचालन किया जा रहा है। धनोरा में खोले गए नए पेट्रोल पंप में छसबल 14वीं वाहिनी द्वारा पहली बार यहां से होने वाली कमाई को पीएचक्यू को न देकर पुलिस कल्याण परिवार के लिए जमा किया जाएगा। तीन साल तक पंप से होने वाली आमदनी पुलिस कल्याण की योजनाओं पर खर्च की जाएगी। अब शौर्य पेट्रोल पंप के साथ-साथ शौर्य रेस्टोरेंट का संचालन पुलिस कल्याण के हित में होगा।

डीजीपी ने दिया था सुझाव

शौर्य पेट्रोल पंप शुरू होने के बाद ठीक बाजू में खाली जगह के बेहतर से बेहतर इस्तेमाल करने के लिए डीजीपी डीएम अवस्थी ने ढाबा-रेस्टोरेंट खोलने का सुझाव दिया था। उद्बोधन में डीजीपी श्री अवस्थी ने कहा था, अगर महिलाएं चाहें तो समूह बनाकर रेस्टोरेंट का संचालन कर सकती हैं। इसी कड़ी में बालोद छसबल की तरफ से यह प्रस्ताव बनाया गया है।

गढ़कलेवा की तर्ज पर देंगे स्वाद

राज्य में खुलने वाले पुलिस के पहले रेस्टोरेंट में स्वाद गढ़कलेवा की तर्ज पर परोसा जाएगा। प्रदेश में गढ़कलेवा की योजना सफल होने के बाद जिलेवार महिला समूहों को जिम्मेदारियां दी जा रही हैं। पुलिस विभाग द्वारा भी अब महिलाओं को प्रोत्साहित करने के साथ पुलिस कल्याण के प्रति अहम कदम उठाने गृहणियों का समूह बनाकर उन्हें भी आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास चल रहा है।

और पढ़ें
Next Story