Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जहरीली शराब कांड : कलेक्टर और एसपी हटाए गए, SDOP निलंबित, मरच्यूरी में लाशों की कतार

मध्यप्रदेश में जहरीली शराब से मौतों के आंकड़े बढ़ते ही जा रहे हैं। लगातार हो रही मौतों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना के कलेक्टर और एसपी को हटा दिया है। एसडीओपी को भी निलंबित किया गया है। इधर मौतों का आंकड़ा 20 पहुंच चुका है, तो नेशनल हाइवे पर लाश रखकर ग्रामीणों का चक्काजाम भी जारी है। पढ़िए पूरी खबर-

जहरीली शराब कांड : कलेक्टर और एसपी हटाए गए, SDOP निलंबित, मरच्यूरी में लाशों की कतार
X

Symbolic Image

मुरैना। मुरैना जिले के तीन गांवों में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना के कलेक्टर और एसपी को हटा दिया है। इनके साथ ही जौरा के एसडीओपी को निलंबित किया गया है। सीएम ने उच्चस्तरीय बैठक में कहा कि मुरैना की घटना अमानवीय और तकलीफ पहुंचाने वाली है। ऐसे मामलों में कलेक्टर और एसपी ही दोषी होंगे, मैं मूक दर्शक नहीं रह सकता। अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा।

शराब पीने वाले अब अस्पतालों में आ रहे हैं। इन लोगों का कहना है कि लगातार मौत की खबरें मिलने के बाद कुछ डर गए हैं और कुछ की तबीयत भी खराब है। जहरीली शराब बनाने और बेचने वालों के परिवार में भी मौतें हुई हैं। सात लोगों का मुरैना और ग्वालियर के अस्पतालों में इलाज चल रहा है। पुलिस ने शराब बनाने व बेचने वाले सात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना के आबकारी अधिकारी जावेद अहमद एवं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बागचीनी थाना प्रभारी अविनाश सिंह राठौर को निलंबित कर दिया है। दतिया की जिला आबकारी अधिकारी निधि जैन को मुरैना का भी प्रभार सौंपा गया है। घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क पर शवों को रखकर जाम भी लगाया था।

कलेक्टर अनुराग वर्मा ने दोषियों पर कार्रवाई के अलावा आर्थिक मदद का प्रस्ताव शासन को भेजने का आश्वासन दिया। मौके पर ही 10-10 हजार की आर्थिक मदद दी गई। इसके बाद लोग दाह संस्कार के लिए राजी हुए। गांव वालों के मुताबिक छैरा के अलावा मानपुर पृथ्वी इलाके में अवैध शराब की भट्टी से सप्लाई की गई जहरीली शराब पीने के बाद क्षेत्र में लोगों की हालत बिगड़ना शुरू हुई। इन्होंने ओपी केमिकल से बनी हुई शराब पी थी।

शराब से बड़ी संख्या में मौत को लेकर लोगों के गुस्से को देखते हुए गांव पूरी तरह पुलिस छावनी में बदल गया है। जहरीली शराब पीने वालों के शव पीएम के लिए आते जा जा रहे हैं, वही मृतकों के परिजनों में आक्रोश को देखते हुए मरच्यूरी में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। आज सुबह से 7 लाशें पीएम के लिए आ चुकी हैं।

उधर, छेरा गाँव में ग्रामीणों ने लाश हाइवे पर रखकर चक्काजाम कर दिया है। मौके पर विधायक सुमावली अजब सिंह सहित पुलिस प्रशासन के बड़े अफसर भी मौजूद हैं। एडीएम और विधायक के बीच चर्चा जारी है, जिसमें ग्रामीणों ने मांग की है कि थाने का पूरा स्टाफ बदला जाए , गाँव में 10 सिपहियों की चौकी अभी खोलें। ग्रामीणों का आरोप है कि कल रात पुलिस यहां थी, फिर शराब की पेटी ठेके से कैसे निकल गई।

मुरैना जिले में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद ग्वालियर जिला प्रशासन आज जागा है। पुलिस और आबकारी की संयुक्त टीम ने आज तीन गांवों में दबिश दी, जहां से 200 लीटर शराब सहित 25 ड्रम गुड लहान बरामद किया है। पुरानी छावनी थाने की पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया हे वहीं चार आरोपी मौके से फरार बताए जा रहे हैं। पकड़ी गई कच्ची शराब की कीमत लाखों रूपए बताई जा रही है।

Next Story