Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गौरव पथ पर धूल का गुबार, लोग परेशान, समस्या को लेकर न जनप्रतिनिधि गंभीर, न अधिकारी

नगर पंचायत देवकर के गौरव पथ की स्थिति बहुत खराब है। नागरिकों ने नगर पंचायत सीएमओ को मार्ग का निर्माण कराने व धूल के गुबार पर पानी का छिड़काव करने की मांग पर सीएमओ ने आश्वस्त किया कि मार्ग का निर्माण जल्दी कराया जाएगा एवं प्रतिदिन दो से चार बार पानी का छिड़काव भी कराया जाएगा। लेकिन वह केवल आश्वासन ही निकला। आज भी इस क्षेत्र के नागरिक एवं राहगीर धूल के गुबार के साथ अपना जीवन-यापन करने को मजबूर हैं। पढ़िए पूरी ख़बर...

गौरव पथ पर धूल का गुबार, लोग परेशान, समस्या को लेकर न जनप्रतिनिधि गंभीर, न अधिकारी
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बालोद: नगर पंचायत देवकर के मुख्य गौरव पथ मार्ग की स्थिति बहुत खराब हो गई है। यहां आए दिन जिले के मुखिया, मंत्री, अधिकारी व कई जनप्रतिनिधि का इस मार्ग से दौरा रहता है पर किसी ने इस मार्ग की सुध तक नहीं ली। इस मार्ग के निर्माण की प्रक्रिया को छोड़ रहवासियों एवं व्यापारियों की भी चिंता किसी ने नहीं की। इस मार्ग के रहवासी व व्यापारी धूल के गुबार से त्रस्त हैं। रोज हजारों की संख्या में भारी वाहनों की आवाजाही है। यह मार्ग खैरागढ़, राजनांदगांव, डोंगरगढ़ होते हुए महाराष्ट्र को जोड़ता है, साथ ही साथ देवकर का नगर पंचायत कार्यालय भी इस मार्ग में स्थित है। इस मार्ग में आए दिन भारी व बाहरी गाड़ियों रेला लगा रहता है। भारी भरकम धांधली के साथ कुछ माह पूर्व हुए निर्माण की चर्चा और विरोध सभी ने किया। भारतीय जनता पार्टी ने आंदोलन कर जवाबदार लोगों पर कार्रवाई की मांग की थी, पर प्रशासन ने अभी तक किसी भी जवाबदेह अधिकारी या ठेकेदार पर इसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की है। इस मार्ग में उड़ती धूल के गुबार से मार्ग के रहवासी व्यापारी व मार्ग में चलने वाले लोग सभी जवाब दे अधिकारी पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हैं। इस धूल के उड़ते गुब्बारे से जन स्वास्थ्य पर भारी नुकसान हो रहा है इस मार्ग में वृद्ध , बुजुर्ग व छोटे-छोटे बच्चे रहते हैं वही स्वास दमा के मरीज भी इस मार्ग के रहवासी हैं। स्वास्थ्य विभाग की माने तो ठंड और धूल दोनों एक दूसरे के दुश्मन स्वरूप है।

Next Story