Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कांग्रेस में टिकट वितरण को लेकर चुनावी बैठक लेने आए पीएल पुनिया, सबसे अधिक माथापच्ची महापौर प्रत्याशी को लेकर

निकाय चुनावों को लेकर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया एक अहम बैठक लेने रायपुर पहुंचे। बैठक में सबसे अहम मुद्दा प्रत्याशियों के चयन का माना जा रहा। बैठक से पहले राजधानी के एयरपोर्ट पर पुनिया ने कहा कि जो जिताऊ हो, जिसका हर वर्ग में प्रभाव हो, इसे ध्यान में रखकर कंडीडेट को मौका दिया जाएगा। पढ़िए पूरी ख़बर...

कांग्रेस में टिकट वितरण को लेकर चुनावी बैठक लेने आए पीएल पुनिया, सबसे अधिक माथापच्ची महापौर प्रत्याशी को लेकर
X

रायपुर: छत्तीसगढ़ के 15 शहरों में स्थानीय निकाय चुनाव की घोषणा के अगले ही दिन कांग्रेस ने बड़ी रणनीतिक बैठक बुलाई है। यह बैठक गुरुवार को दोपहर बाद 2 बजे से प्रस्तावित है। इसमें कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम शामिल होने वाले हैं।

पिछले चुनाव संशोधन के बाद महापौर का चुनाव सीधे जनता के वोटों से नहीं हो रहा है। पार्षदों में से ही किसी को महापौर चुना जाना है। ऐसे में चार नगर निगमों में महापौर पद के कई दावेदारों के बीच संतुलन साधना सबसे बड़ी चुनौती है। बताया जा रहा है कि गुरुवार की बैठक में चारो शहरों के ऐसे पार्षद दावेदारों के नाम पर विचार होगा, जो महापौर की दावेदारी भी ठोक रहे हैं। नगर पालिका और नगर पंचायतों में अध्यक्षों के लिए भी ऐसी ही कवायद होनी है।

इन जगहों पर होने हैं चुनाव

प्रदेश के 10 जिलों के 15 शहरों में निकाय चुनाव के लिए मतदान 20 दिसंबर को होगा। 16 शहरों के 17 वार्डों में उपचुनाव भी होगा। नामांकन की प्रक्रिया 27 नवंबर से ही शुरू होगी। 23 दिसंबर की रात तक मतगणना के बाद विजेता की घोषणा भी कर दी जाएगी। नगर पालिक निगम बिरगांव, भिलाई, रिसाली और भिलाई-चरोदा का चुनाव मुख्य है। उसके अलावा नगर पालिका सारंगढ़, बैकुंठपुर, शिवपुर चरचा, जामुल और खैरागढ़ में नई शहरी सरकार चुना जाना है। प्रेमनगर, मारो, नरहरपुर, कोंटा, भैरमगढ़ और भोपालपट्टनम नगर पंचायतों में भी आम चुनाव होगा।

पर्यवेक्षकों के पास पार्षद चुनाव में टिकट के दावेदारों की शुरुआती सूची

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने बताया, इस बैठक में चुनाव वाले शहरों में नियुक्त पार्टी पर्यवेक्षक और संबंधित जिलों के अध्यक्ष को बुलाया गया है। इसमें नगरीय निकाय चुनाव की रणनीति पर चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि इस बैठक से पहले पर्यवेक्षकों ने बुधवार को दिन भर प्रभार वाले शहरों-कस्बों में बैठक कर कार्यकर्ताओं को टटोल लिया है। पार्षद चुनाव में टिकट के दावेदार की शुरुआती सूची भी उनके पास है। इस बैठक में इस सूची पर भी चर्चा होगी। वहीं पहले से कराए जा रहे सर्वेक्षण के आधार पर आए नामों की भी चर्चा की जाएगी। चुनावी रणनीति के हिसाब से भी यह बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

शनिवार से नामांकन

छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक 27 नवंबर से चुनाव की अधिसूचना जारी हो जाएगी। उसके साथ ही सभी 15 नगरीय निकायों में आम चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नामांकन पत्र भी उसी दिन से ही मिलने लगेंगे। ऐसे में टिकट के दावेदारों की भागदौड़ मची हुई है। बहुत से लोग सुबह से ही राजधानी पहुंच गए हैं। वे विभिन्न मंत्रियों और कांग्रेस पदाधिकारियों से मुलाकात कर अपना नाम आगे बढ़ाने की सिफारिश कर रहे हैं।

Next Story