Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए वेरिएंट के खतरे के बीच रायपुर में अलग ही समस्या- पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही फ़ोन बंद कर गायब हो रहे मरीज

राजधानी में पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही फ़ोन बंद कर गायब हो रहे मरीज। पिछले सात दिन से धीरे-धीरे कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। सबसे ज्यादा केस राजेंद्र नगर, महावीर नगर, तेलीबांधा, फाफाडीह, विधानसभा भवन रोड, शंकर नगर इलाके में मिल रहे। एक हफ्ते में 37 से अधिक नए मरीज मिल चुके हैं। नंबर बंद करने वालों पर कड़ाई करने की तैयारी भी हो रही है। हालांकि अभी तक किसी भी इलाके में कंटेनमेंट जोन बनाने की नौबत नहीं आई है। पढ़िए पूरी ख़बर...

नए वेरिएंट के खतरे के बीच रायपुर में अलग ही समस्या- पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही फ़ोन बंद कर गायब हो रहे मरीज
X

रायपुर: नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए अब होम आइसोलेशन के मरीजों पर भी फिर से सख्ती करने की तैयारी की जा रही है। जिसके तहत नंबर बंद करने वालों पर कड़ाई करने की तैयारी भी हो रही है। अफसरों ने संकेत दिए हैं होम आइसोलेशन में रहकर लापरवाही या सहयोग नहीं करने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती भी करवाया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्यूंकि हर दिन मिल रहे सात मरीजों में से औसतन तीन से अधिक पॉजिटिव के फोन नंबर रिपोर्ट आते ही या तो बंद आ रहे हैं या फिर गलत नंबर आ रहा है। इतना ही नहीं रायपुर में अभी पचास से अधिक एक्टिव केस में अधिकांश होम आइसोलेशन में है। होम आइसोलेशन में जाने के बाद बहुत से लोग कॉल करने पर अपनी सेहत के बारे में जानकारी नहीं दे रहे हैं।

कोरोना के नए वैरिएंट के बढ़ते खतरे के बीच शहर में पिछले सात दिन से धीरे-धीरे कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार हर दिन औसतन मिल रहे 5 से अधिक मरीजों में तीन से ज्यादा के अनुपात में महिला मरीज हैं। ये आंकड़ा भी अचानक बढ़ा है। शहर में फिलहाल सबसे ज्यादा केस राजेंद्र नगर, महावीर नगर, तेलीबांधा, फाफाडीह, विधानसभा भवन रोड, शंकर नगर इलाके में मिल रहे हैं। एक हफ्ते में 37 से अधिक नए मरीज मिल चुके हैं। नए मरीजों में 11 साल के बच्चे से लेकर 89 साल के बुजुर्ग तक शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के अनुसार राहत की बात है कि एक ही जगह पर थोक में केस नहीं मिले हैं। इस वजह से कहीं भी कंटेनमेंट जोन बनाने की जरूरत नहीं पड़ी है।

Next Story