Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ओपन बोर्ड की परीक्षाएं अधर में, परीक्षा की जगह असाइनमेंट, ऑनलाइन टेस्ट और प्रमोशन जैसे विकल्प

राज्य ओपन बोर्ड की परीक्षाएं अधर में लटक गई हैं। बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण ओपन बोर्ड परीक्षा के संदर्भ में कोई भी स्थिति स्पष्ट नहीं कर पा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य ओपन बोर्ड के लिए आवेदन मिले थे। इनमें दसवीं और बारहवीं दाेनाें कक्षाओं के लिए मिलाकर एक लाख 40 हजार आवेदन मिले हैं।

ओपन बोर्ड की परीक्षाएं अधर में, परीक्षा की जगह असाइनमेंट, ऑनलाइन टेस्ट और प्रमोशन जैसे विकल्प
X

रायपुर. राज्य ओपन बोर्ड की परीक्षाएं अधर में लटक गई हैं। बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण ओपन बोर्ड परीक्षा के संदर्भ में कोई भी स्थिति स्पष्ट नहीं कर पा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य ओपन बोर्ड के लिए आवेदन मिले थे। इनमें दसवीं और बारहवीं दाेनाें कक्षाओं के लिए मिलाकर एक लाख 40 हजार आवेदन मिले हैं।

दोनों ही कक्षाओं की परीक्षाएं 27 मार्च से 27 अप्रैल तक ली जानी थी। कोरोना के कारण इसे स्थगित कर दिया गया। स्थगित परीक्षाओं के बारे में अब तक अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम जारी किए जा चुके हैं। अगली कक्षाओं में प्रवेश भी कुछ दिनों के अंतराल में शुरू हो जाएगा।

समय पर परीक्षाएं न होने और परिणाम न आने की स्थिति में अगले सत्र में छात्रों को प्रवेश में दिक्कतें हो सकती हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान स्थिति को देखते हुए ओपन स्कूल बोर्ड द्वारा पांच विकल्प चेयरमैन को भेजे गए हैं। इन विकल्पों में से किसी एक पर मुहर लगेगी। माहांत से पहले ओपन परीक्षाओं को लेकर दिशा-निर्देश जारी करने की तैयारी है।

ये है विकल्प

जो पांच विकल्प उच्च स्तर पर भेजे गए हैं, उनमें से एक इस वर्ष ओपन बोर्ड की परीक्षाएं न लेना भी है अर्थात इस वर्ष ओपन बोर्ड की परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी। छात्रों को अगले वर्ष तक इंतजार करना होगा। इसके अलावा छात्रों को जनरल प्रमोशन देना भी शामिल है। अर्थात इस वर्ष जिन छात्रों ने दसवीं और बारहवीं के लिए आवेदन भरे हैं, उन्हें जनरल प्रमोशन दे दिया जाएगा। अन्य तीन विकल्पों में ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन, असाइनमेंट के आधार पर मूल्यांकन और निर्धारित दूरी का पालन करते हुए प्रत्येक सेंटर में कम से कम संख्या में छात्र बैठाकर परीक्षा लेना शामिल है। उच्च स्तर पर ही इस बारे में फैसला किया जाएगा।

ओपन बोर्ड के संदर्भ में जल्द से जल्द स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी। फिलहाल कुछ भी तय नहीं हुआ है।

- प्रो. वीके गोयल, सचिव, राज्य ओपन बोर्ड

Next Story