Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहली बार रक्षाबंधन पर न त्योहारी स्पेशल, न लोकल ट्रेनों का फेरा

वर्तमान में कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनों का परिचालन लगभग बंद

आज से शुरू हो रही स्पेशल ट्रेन में नहीं मिलेगा पीने का पानी, जानें और भी जरूरी बातें
X

रायपुर. इस रक्षाबंधन में ऐसा पहली बार होगा, जब रेल यात्रियों को कोई त्योहारी स्पेशल एक्सप्रेस व लोकल ट्रेनों की सुविधा मिलने की संभावना नहीं दिख रही। 3 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार है, लेकिन रेलवे बोर्ड द्वारा अभी तक सामान्य दिनों में महीने के 1 करोड़ रेल यात्री आवागमन की क्षमता वाले बिलासपुर रेलवे जोन के रायपुर, नागपुर व बिलासपुर मंडल से देश के अन्य शहरों के बीच रेलयात्रा करने वाले यात्रियों के लिए त्योहारी स्पेशल एक्सप्रेस या लोकल ट्रेन चलाने की घोषणा नहीं की गई है।

ऊपर से जोन से गुजरने वाली चार में से तीन कोविड-19 स्पेशल यात्री एक्सप्रेस साप्ताहिक व त्रिसाप्ताहिक के रूप में चला रहा है। ऐसे में रक्षाबंधन पर पहले की तरह देश के अलग-अलग शहर के बीच रेलयात्रा करने का मौका नहीं मिलेगा। अब तक हर साल रेलवे द्वारा त्योहारी स्पेशल ट्रेन या लाेकल ट्रेनों के फेराें में बढ़ोतरी की जाती थी, लेकिन वर्तमान में कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनों का परिचालन लगभग बंद है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि देश के अलग-अलग राज्यों में जिस तरह से कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए रेलवे बोर्ड ने रेल यातायात परिचालन को लेकर अपनी प्रथामिकताएं व शर्तें तय की हुई हैं। उसी के अनुसार सभी रेलवे जोन में निर्धारित स्पेशल यात्री ट्रेनें परिचालित हो रही हैं। फिलहाल रक्षाबंधन पर स्पेशल ट्रेनें चलाने की जगह सबसे पहली प्रथामिकता कोरोना वायरस से सुरक्षा व बचाव काे दी जा रही है।

रेल मेल डाक सेवा भी ठप

ट्रेनों के परिचालन की संख्या में बढ़ोतरी नहीं होने से फिलहाल रेल मेल डाक सेवा पूरी तरह ठप पड़ गई है। हालांकि गिनती की चल रही 2 साप्ताहिक, 1 त्रिसाप्ताहिक व 1 प्रतिदिन स्पेशल ट्रेनों से ही सीमित मात्रा में दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई, हावड़ा व रायगढ़ गाेंदिया के बीच ही रेल मेल डाक का पार्सल हो पा रहा है। बाकी शहरों के बीच रेल मेल सेवा पूरी तरह ठप है।

राज्य सरकारें भी ट्रेन चलाने के पक्ष में नहीं

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि देश के ज्यादातर राज्योें की सरकारें नहीं चाहतीं कि उनके राज्यों से होकर ट्रेनें गुजरें। इसे लेकर कई राज्य सरकारों ने रेलवे बोर्ड को उनके यहां से गुजरने वाली प्रतिदिन स्पेशल ट्रेनों को साप्ताहिक व त्रिसाप्ताहिक ट्रेनों के तौर पर चलाने की अपील की है। इस पर बिलासपुर रेलवे जाेन से गुजरने वाली दो स्पेशल ट्रेनें भी शामिल हैं।

इधर डाकघरों पर बढ़ेगा लोड

राज्य के भारतीय डाक सेवा विभाग के सहायक निदेशक बीआर यादव ने बताया कि प्रदेश के डाकघरों में राखियों की पार्सल रजिस्ट्री शुरू हो गई है। देशभर में यातायात के रेलवे, बस जैसे महत्वपूर्ण माध्यम के सीमित परिचालन को देखते हुए डाकघरों पर राखी पार्सल वितरण के मद्देनजर अतिरिक्त काउंटर, डाक वाहनों की पूरी व्यवस्था की गई है, ताकि समय पर राखियाें का रजिस्ट्री पार्सल संबंधित शहरों व लोगों तक पहुंच सके।

लोकल में सिर्फ एक एक्सप्रेस

बिलासपुर रेलवे जोन से फिलहाल लोकल एक्सप्रेस के तौर पर रायगढ़-गोंदिया जनशताब्दी एकमात्र स्पेशल एक्सप्रेस चल रही है। वहीं नई दिल्ली-बिलासपुर त्रिसाप्ताहिक एक्सप्रेस, हावड़ा-मुंबई साप्ताहिक स्पेशल एक्सप्रेस, हावड़ा-अहमदाबाद साप्ताहिक एक्सप्रेस का परिचालन हो रहा है।

सुरक्षा पहली प्रथामिकता

देश के अलग-अलग राज्यों में जिस तरह से कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए रेलवे बोर्ड ने ट्रेन परिचालन को लेकर अपनी प्रथामिकताएं व शर्तें तय की हुई हैं। उसी के अनुसार वर्तमान मेें रेलवे जोन में निर्धारित स्पेशल यात्री ट्रेनें परिचालित हो रही हैं। फिलहाल रक्षाबंधन पर स्पेशल ट्रेनें चलाने की जगह रेलवे की सबसे पहली प्रथामिकता कोरोना वायरस से बचाव व सुरक्षा का है।

- गौतम बैनर्जी, जीएम, बिलासपुर रेलवे जोन

Next Story