Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आबकारी की तिजोरी में नए साल पर धनवर्षा, छह करोड़ का कारोबार

दोपहर बाद देसी घूंट से लेकर अंग्रेजी टेस्ट पाने उमड़ी भीड़ काउंटर बंद होने तक प्रीमियम शॉप में हाई रेंज की शराब दो घंटे पहले खत्म। स्टाॅक का टोटा होने पर बिफरे शौक़ीन। चखना संचालकों की भी चांदी। चखना सेंटरों से इलाके में गंदगी पसरी। कइयों की कटी जेबें। दुकानों में चकमा। पढ़िए पूरी ख़बर..

आबकारी की तिजोरी में नए साल पर धनवर्षा, छह करोड़ का कारोबार
X
ठेके बंद होने के बाद भी देर रात तक मदिरा प्रेमी ठेकों के सामने मंडराते रहे

रायपुर: शराब कारोबार में पूरे लॉकडाउन के दौरान छाई रही मंदी आबकारी के लिए साल के आखिरी दिन दूर हो गई है। नए साल के जश्न की खुशी में पियक्कड़ों ने तीन साल का रिकार्ड तोड़ दिया और एक ही दिन में 6 करोड़ रुपए से ज्यादा की शराब बिक्री दर्ज की गई। इस आंकड़े का अनुमान रात 9 बजे तक का है। जबकि काउंटर बंद होने के आखिरी एक घंटे में ग्राफ और तेजी से ऊपर रहा है। आबकारी अफसरों ने दिनभर की शराब बिक्री साढ़े छह करोड़ रुपए से ऊपर जाने का अनुमान लगाया है। किसी भी त्योहारी सीजन में शराब की इतनी बिक्री नहीं हुई। जितनी शौकीनों ने दिवाली। होली छोड़कर नए साल पर की है। त्याेहारी सीजन में बिक्री का ग्राफ औसतन साढ़े तीन से सवा चार करोड़ रुपए तक का रहा है। सीएसएमसीएल रायपुर जिला प्रबंधक इकबाल खान के अनुसार नए साल में बिक्री हमेशा ज्यादा रहती है। लॉकडाउन की वजह से त्योहारी सीजन में पहले जितना बिक्री का ग्राफ रहा है। इस बार उससे ज्यादा है। बता दें कि नए साल के मौके पर दोपहर बाद से जिस तरह से शौकीनों की भीड़ उमड़ी। इसने चखना सेंटर संचालकों को भी खुश कर दिया। दिनभर शराब दुकानों के बाहर जमने वाली महफिल के बीच चखना वालों ने भी जमकर कमाई की। चना। डिस्पोजल और पानी बेचने वाले चखना संचालकों ने भी दो से ढाई गुना कमाई कर ली। शहर में शराब दुकानों के बाहर कइयों ने अवैध चखना सेंटर लगा रखे हैं। लायसेंस वाले अहाता का कांसेप्ट फेल होने के बाद इसका बड़ा नुकसान आबकारी को हुआ है। अगर लायसेंसी अहाता होता तो आबकारी की तिजोरी में इस साल आवक कहीं और ज्यादा हुई होती।

कइयों की कटी जेबें दुकानों में चकमा

नए साल के मौके पर जब शराब दुकानों में शौकीनों की भीड़ टूटी। तब जेबकतरा गैंग भी हावी रहा। बताया गया कि पंडरी बस स्टैंड। पुलिस लाइन गेट के पास और कटोरा तालाब-तेलीबांधा वाइन शॉप में संदिग्ध पकड़े गए। हालांकि जेब ढीली होने के डर से शौकीनों ने ही संदिग्ध चेहरे नापे। तेलीबांधा और पुलिस लाइन गेट के पास जेब काटने की कोशिश के शक में विवाद होते होते बचा।

चखना सेंटरों से इलाके में गंदगी पसरी

चखना सेंटरों से निकली गंदगी ने वाइन शॉप के आसपास के हिस्सों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। तेलीबांधा में ही खुली जगह में बारिश के बीच कीचड़ फैली हुई है और यहीं चल रहे चखना सेंटरों की गंदगी के बाद स्थिति और ज्यादा खराब है। सड़कों पर मौजूद दुकानों में न्यू ईयर के मौके पर शौकीनों ने खुले में जाम छलकाते मुख्य मार्गों में कचरे का ढेर लगा दिया। डिस्पोजल। पानी पाऊच के पॉलीथिन की भरमार बिखरी हुई नजर आई।

देसी घूंट के लिए काउंटर में लगी कतारें

प्रीमियम शॉप खुल जाने के बाद अंग्रेजी वाइन शॉप के काउंटर में भीड़ नियंत्रण में रही। लेकिन देसी पौवा के लिए खोले गए छोटे-छोटे काउंटर में शौकीनों की भीड़ शाम के बाद कई जगह बेकाबू हो गई। निजी सुरक्षा गार्डों के सहारे भीड़ को खदेड़ना पड़ा। न्यू राजेंद्र नगर। सड्डू। गंज और नर्मदापारा के साथ फाफाडीह स्थित शराब दुकान में कतारें लगी रहीं।

Next Story