Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लापरवाही ने ली जान, मौसमी सर्दी बुखार समझ बीमारी को हलके में लिया, मौत के बाद पता चला कोरोना था

दुर्ग में कोरोना से एक और मौत, प्रशासन एलर्ट, जनता में जागरूकता की जरूरत, यहां मंगलवार को 25 साल के एक कोविड पॉजिटिव युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। पढ़िए जरूरी खबर

लापरवाही ने ली जान, मौसमी सर्दी बुखार समझ बीमारी को हलके में लिया, मौत के बाद पता चला कोरोना था
X

छत्तीसगढ़: प्रदेश में कोरोना का संकट गहराता जा रहा है, दुर्ग निवासी एक युवक की कोरोना से मौत हो गई, युवक को शुरुआत में सर्दी-खांसी हुई। उसने इसे मौसमी वायरल समझकर हल्के में लिया। जब उसकी तबीयत अधिक खराब हुई तो उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उसकी कोविड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उसे इलाज के लिए AIIMS ले जाया गया। बताया जा रहा है कि युवक सरायपाली में नौकरी करता था। कुछ दिन पहले उसे हल्का बुखार और सर्दी हुई थी। फिर उसे खांसी के लक्षण भी दिखे। इसे उसने हल्के में लिया और बाजार से दवा खाकर मर्ज को दबाने का प्रयास किया। 10 दिन बाद उसकी तबीयत अधिक बिगड़ने लगी और उसे सांस लेने में परेशानी हुई तो परिजन उसे एक निजी अस्पताल में लेकर गए। वहां उसका कोरोना टेस्ट किया गया। जब उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो परिजन उसे लेकर एम्स आए लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।

दुर्ग जिले में 14 दिन पहले कोरोना से 79 साल की एक बुजुर्ग महिला की मौत हुई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 14 अक्टूबर को सेक्टर-9 अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया। जिले में कोरोना संक्रमण से यह करीब 37 दिन बाद मौत हुई थी। इसके पहले कोरोना से 20 सितंबर को मौत हुई थी।

जिला प्रशासन से जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को जिले में 2149 लोगों का कोविड टेस्ट किया गया। इसमें तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं एक युवक की मौत हुई है। जिले में कुल एक्टिव कोविड पेशेंट की बात करें तो वह 54 पहुंच गई है, जो कि राज्य में सबसे अधिक है। यह चौंकाने वाला आंकड़ा जिले के लिए काफी चिंताजनक है।

जिले के CMHO डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि ठंड बढ़ने से लोगों में सर्दी-खांसी और बुखार की समस्या अधिक देखने को मिल रही है। ऐसे में सबसे अधिक जरूरी है कि इस बीमारी को वायरल समझ कर हल्के में न लें। सबसे पहले कोविड नियमों का पालन करके खुद को सर्दी से बचाएं। यदि सर्दी खांसी व बुखार आदि के लक्षण हों तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और कोविड टेस्ट कराएं। इस दौरान उन्होंने कोविड वैक्सीनेशन कराने और वैक्सीनेशन करा चुके लोगों को भी कोविड नियमों का पालन करने की सलाह दी।

Next Story