Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सामान्य सभा नहीं कराने पर बिफरे पार्षद, कहा- विधानसभा हो सकती है, तो सामान्य सभा क्यों नहीं

नगर निगम की सामान्य सभा एक अरसे से नहीं कराए जाने को लेकर निगम के गलियारे में हड़कंप मचा है। विपक्षी दल के सदस्यों का आरोप है है कि महापौर एजाज ढेबर और उनकी परिषद के पास सामान्य सभा के लायक एजेंडे नहीं हैं। ना ही शहर विकास काे लेकर कोई स्पष्ट विजन है।

सामान्य सभा पर संशय, कोरोना के हालात देखकर लेंगे निर्णय
X

ब्रेकिंग न्यूज 

नगर निगम की सामान्य सभा एक अरसे से नहीं कराए जाने को लेकर निगम के गलियारे में हड़कंप मचा है। विपक्षी दल के सदस्यों का आरोप है है कि महापौर एजाज ढेबर और उनकी परिषद के पास सामान्य सभा के लायक एजेंडे नहीं हैं। ना ही शहर विकास काे लेकर कोई स्पष्ट विजन है। पिछली सामान्य सभा कोविड प्रोटोकाल का पालन करते जिस तरह कराई गई उसी तर्ज पर सामान्य सभा हो सकती है पर महापौर और सभापति में सामान्य सभा कराने की इच्छाशक्ति नहीं होने की वजह से सभा नहीं करा रहे।

सारे राजनीतिक कार्यक्रम हो रहे, सामान्य सभा क्यों नहीं : मीनल चौबे

नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने दो टूक शब्दों में कहा है कि प्रदेश में जब सारे राजनीतिक कार्यक्रम हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ विधानसभा का सत्र हो सकता है तो फिर नगर निगम की सामान्य सभा क्याें नही हो सकती? भाजपा पार्षद दल ने सभापति प्रमोद दुबे को 8 तारीख को लिखित में पत्र देकर सामान्य सभा कराने आग्रह किया पर आज तक कुछ नहीं हुआ। केवल बहानाबाजी हो रही है। सभापति से पूछूंगी सामान्य सभा कब कराएंगे ?

सामान्य सभा के लायक एजेंडा ही नहीं : सूर्यकांत राठौर

नगर निगम के पूर्व नेता प्रतिपक्ष सूर्यकांत राठौर ने तंज कसते हुए कहा है कि महापौर एजाज ढेबर के पास सामान्य सभा कराने के लायक एजेंडा नहीं है इसलिए सामान्य सभा से बच रहे हैं। वहीं नामकरण के प्रस्ताव लेकर आ जाएंगे। सच तो ये है बिना महापौर की अनुमति के सामान्य सभा नहीं हो सकती। इसीलिए सभा नहीं हो रही। कोरोना तो बहाना है कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए पिछली बार जिस तरह सामान्य सभा हुई उसी तर्ज पर सामान्य सभा करा सकते हैं।

परीक्षण के बाद सहमति दी जा सकती है : मेनन

वरिष्ठ एमआईसी सदस्य श्रीकुमार मेनन की राय में कोविड प्रोटोकाल के तहत परीक्षण के बाद ही किसी प्रकार की सहमति दी जा सकती है।

पार्षदों के सवाल से भाग रहे महापौर : मनोज वर्मा, उपनेता प्रतिपक्ष

निगम के उपनेता प्रतिपक्ष मनोज वर्मा ने कहा, बड़े शर्म की बात है, सामान्य सभा में महापौर बजट पेश नहीं कर पाए। ठसाठस भरे हाल में मीडिया और कांग्रेसी कार्यकर्ता को बजट की कापी बांटी गई पर आज तक पार्षदों को निगम बजट की कापी नहीं भेजी। तुगलकी फरमान में बजट पेश किया। निगम मुख्यालय के सामान्य सभागार में एक-एक टेबल में ग्लास लगा है। माइक में बजट पेश करें पर ऐसा ना करके पार्षदों के सवाल से मेयर भाग रहे हैं। सामान्य सभा आयोजित करना सभापति का अधिकार है पर वे भी दलगत राजनीति कर रहे हैं। उन्हें तटस्थ रहकर सामान्य सभा की तारीख जल्द घोषित करनी चाहिए ।

कलेक्टर को पत्र भेजा है

जिला कलेक्टर को पत्र भेजा है कि सामान्य सभा कब कर सकते हैं उनकी अनुमति मिलते ही कोविड गाइडलाइन के अनुसार बस जल्दी सामान्य सभा कराएंगे।



Next Story