Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजधानी के बस टर्मिनल में नगर निगम ही करा रहा अवैध वसूली, 20 दबंग लगाए

भाठागांव बस टर्मिनल पर इंट्री गेट को ही बांस-बल्ली लगाकर बना दिया वाहन पार्किंग, बाइक से 5 की जगह 10 और कार से 10 की जगह 20 रुपए की जबरन की जा रही वसूली, नगर निगम की जिस पर्ची पर वाहन पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है, उसमें सिरीयल नंबर तक नहीं लिखा है। पर्ची में सिर्फ वाहन नंबर लिखकर पैसे लिए जा रहे हैं। पढ़िए पूरी ख़बर..

राजधानी के बस टर्मिनल में नगर निगम ही करा रहा अवैध वसूली, 20 दबंग लगाए
X

चर्चा है, शहर के एक चर्चित रसूखदार काे गुर्गाें के माध्यम से वसूली करने के लिए नगर निगम के अफसरों ने रखा है। ऐसे में सवाल उठता है, शहर की जनता से अवैध कमाई कर नगर निगम किसका खजाना भरने में लगा है।

रायपुर: भाठागांव में नया बस टर्मिनल में अब नगर निगम लठैत और दबंग युवकों को लगाकर जबरन वसूली में जुट गया है। मेंटेनेंस के नाम पर बाइक से कार तक से टर्मिनल गेट पर जबरन वसूली की जा रही है। इसके लिए नगर निगम ने बकायदा 20 दबंग युवकों को गेट पर खड़ा कर दिया है। वाहनों को गेट से प्रवेश तभी मिल रहा है, जब वाहन चालक पैसे जमा कर देते हैं। पैसे नहीं देने पर सामान लेकर यात्रियों को 200 मीटर पैदल चलकर जाना पड़ता है। इससे न सिर्फ यात्रियों की मुसीबत बढ़ गई है, बल्कि छोटे बच्चे और महिलाएं भी सिर पर सामान लेकर सड़क से टर्मिनल परिसर तक पैदल जाने मजबूर हैं। इसके बाद भी प्रशासन को पब्लिक की परेशानी नहीं दिख रही है। वहीं एमआईसी सदस्य समीर अख्तर का कहना है, मुझे भी वसूली की जानकारी मिली है। जोन कमिश्नर ने बताया कि नगर निगम ही मेंटेनेंस के लिए पैसे ले रही है, लेकिन सामान्य यात्रियों को सड़क पर रोकना उचित नहीं है। इससे पब्लिक की परेशानी बढ़ेगी। बगैर ठेका आवंटन के यात्रियों से वसूली करना गलत है।

रोज 12 हजार की अवैध वसूली

जानकारी के मुताबिक भाठागांव बस टर्मिनल के गेट पर वाहन पार्किंग का ठेका नहीं हुआ है, लेकिन हफ्तेभर से पार्किंग के नाम पर टर्मिनल के गेट पर ही जबरन वसूली की जा रही है। रोज करीब 600 से अधिक दोपहिया और चारपहिया वाहन टर्मिनल परिसर में प्रवेश करते हैं। वहीं करीब 200 से अधिक ऑटो रिक्शा हैं। अगर प्रत्येक वाहन से 15 रुपए की वसूली औसतन मानी जाए तो दिनभर में 10-12 हजार रुपए की अवैध कमाई की जा रही है। महीनेभर में करीब पौने चार लाख रुपए की अवैध वसूली हो रही है। यही वजह है, नगर निगम के अफसर तक इस काली कमाई के खेल में कूद पड़े हैं।

रसूखदार के गुर्गे कर रहे वसूली

जानकारी के मुताबिक नगर निगम की जिस पर्ची पर वाहन पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है, उसमें सिरीयल नंबर तक नहीं लिखा है। पर्ची में सिर्फ वाहन नंबर लिखकर पैसे लिए जा रहे हैं। चर्चा है, शहर के एक चर्चित रसूखदार काे गुर्गाें के माध्यम से वसूली करने के लिए नगर निगम के अफसरों ने रखा है। ऐसे में सवाल उठता है, शहर की जनता से अवैध कमाई कर नगर निगम किसका खजाना भरने में लगा है।

यात्रियों से जबरन दोगुनी वसूली

जानकारी के मुताबिक नए बस टर्मिनल की पार्किंग के लिए बाइक 5 रुपए, कार 10 रुपए और ऑटो रिक्शा से 20 रुपए निर्धारित किया गया है, लेकिन न तो पार्किंग का ठेका हुआ है और न ही पार्किंग स्थल बनाया गया है। इसके बाद भी गेट पर प्रत्येक बाइक से 10 रुपए, कार से 20 और ऑटो रिक्शा से 20 रुपए की जबरन वसूली की जा रही है। विरोध करने पर दबंग युवकों द्वारा यात्रियों से मारपीट, धमकीबाजी और अभद्रता की जा रही है।

प्लेसमेंट एजेंसी को दिया काम

भाठागांव बस टर्मिनल में नगर निगम द्वारा मेंटेनेंस के लिए बाइक से 5 और कार से 10 रुपए लिए जा रहे हैं। इसके लिए प्लेसमेंट एजेंसी को काम दिया गया है। टर्मिनल गेट से ही पार्किंग शुरू हो जाती है।

- नेतराम चंद्राकर, कमिश्नर, जोन- 6 नगर निगम

Next Story