Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए साल के पहले सप्ताह में मुंबई व दिल्ली की ट्रेनें पैक, कंफर्म टिकट पाने उलझन में यात्री

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते बीते दो-तीन दिनों में बाहर जाने वाले यात्रियों ने बड़े पैमाने में टिकटें रद्द कराई हैं, लेकिन जो यात्री बाहर जा चुके हैं, उन्हें अब वापसी की कंफर्म टिकट के लिए खासी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यात्री जहां सफर से पांव खींचने लगे हैं। वहीं रेलवे ने सतर्कता बढ़ा दी है। एक बार फिर स्टेशन पर बड़ी संख्या में बाहर से आने वाले यात्रियाें की टेस्टिंग की जा रही है। पढ़िए पूरी ख़बर..

नए साल के पहले सप्ताह में मुंबई व दिल्ली की ट्रेनें पैक, कंफर्म टिकट पाने उलझन में यात्री
X

रायपुर: नए साल के पहले सप्ताह में ट्रेनें एक बार फिर पैक होंगी। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते बीते दो-तीन दिनों में बाहर जाने वाले यात्रियों ने बड़े पैमाने में टिकटें रद्द कराई हैं, लेकिन जो यात्री बाहर जा चुके हैं, उन्हें अब वापसी की कंफर्म टिकट के लिए खासी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए चलने वाली ट्रेनों में वेटिंग का आंकड़ा एक बार फिर बढ़ गया है। एक जनवरी से लेकर सप्ताहभर बाद तक ट्रेनों में वेटिंग की स्थिति रहेगी। जबकि 29 से लेकर 31 दिसंबर तक बड़ी संख्या में यात्रियों ने टिकटें रद्द भी कराई हैं, जिससे रायपुर रेल मंडल को नुकसान भी हुआ था। पीआरओ रेलवे शिव प्रसाद ने बताया, 29 दिसंबर को 30 हजार रुपए रायपुर रेल मंडल ने यात्रियों को रिफंड किया है, लेकिन नए साल के पहले सप्ताह के लिए जमकर बुकिंग भी हो रही है। यात्रियों को पर्याप्त सीटें उपलब्ध हो सके, इसके लिए प्रयास किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार जितने लोगों ने टिकटें रद्द कराई, उससे अधिक यात्रियों ने नए साल में सफर किया है। ऐसे में नए वर्ष के जश्न के बाद लौटने के लिए ट्रेनों में वेटिंग बढ़ गई है। दिल्ली के लिए दुरंतो एक्सप्रेस, भोपाल रूट में समता और अमरकंटक एक्सप्रेस, हावड़ा व मुंबई के लिए गीतांजलि, संपर्क क्रांति, गरीब रथ ट्रेनों में वेटिंग 100 अधिक है। मुंबई व दिल्ली में ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ने की वजह से इन शहरों की ओर जाने वाली ट्रेनों में टिकटें रद्द भी जमकर हुई है।

अब कोविड प्रोटोकॉल पर सख्ती

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यात्री जहां सफर से पांव खींचने लगे हैं। वहीं रेलवे ने सतर्कता बढ़ा दी है। एक बार फिर स्टेशन पर बड़ी संख्या में बाहर से आने वाले यात्रियाें की टेस्टिंग की जा रही है। वहीं मास्क के प्रयोग को लेकर भी सख्ती बढ़ाई गई है। रेल अफसरों के मुताबिक ट्रेनों को सैनिटाइज करने के लिए पहले ही रेलवे के निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। स्टेशन पर पहले की तरह ही अनावश्यक भीड़ न जुटे, इसे लेकर प्रयास किए जा रहे हैं। यात्रियों से भी प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की जा रही है।

Next Story