Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

7 करोड़ के आउटडोर स्टेडियम में कीचड़ और चाैतरफा गंदगी, खेल का अभ्यास नहीं तो मेंटेनेंस भी बंद

राजधानी के बूढ़ातालाब स्थित आउटडोर स्टेडियम में फुटबॉल मैदान पर चारों तरफ घास ऊगने के साथ गंदगी, कीचड़ हो गई है। यहां कोरोनाकाल के कारण सब्जी मंडी लगाने से मैदान पूरा खराब हो गया है। साई के खिलाड़ी अभी अभ्यास नहीं कर रहे हैं, तो मैदान का मेंटेनेंस भी नहीं किया जा रहा है। स्टेडियम में लंबे समय से रंगाई-पोताई नहीं होने के कारण गैलेरी भी खराब हो गई है।

7 करोड़ के आउटडोर स्टेडियम में कीचड़ और चाैतरफा गंदगी, खेल का अभ्यास नहीं तो मेंटेनेंस भी बंद
X

रायपुर. राजधानी के बूढ़ातालाब स्थित आउटडोर स्टेडियम में फुटबॉल मैदान पर चारों तरफ घास ऊगने के साथ गंदगी, कीचड़ हो गई है। यहां कोरोनाकाल के कारण सब्जी मंडी लगाने से मैदान पूरा खराब हो गया है। साई के खिलाड़ी अभी अभ्यास नहीं कर रहे हैं, तो मैदान का मेंटेनेंस भी नहीं किया जा रहा है। स्टेडियम में लंबे समय से रंगाई-पोताई नहीं होने के कारण गैलेरी भी खराब हो गई है।

इसे फिलहाल संवारने की कवायद भी नहीं होगी, जब तक खेल का अभ्यास फिर से प्रारंभ नहीं होगा। नगर निगम ने आउटडोर स्टेडियम को 13 साल पहले करीब सात करोड़ की लागत से बनवाया था। इसके बाद इसे करीब दस साल पहले भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) काे लीज पर दे दिया गया। अब यह स्टेडियम साई के पास है, इसके रखरखाव का पूरा जिम्मा साई का है। साई सेंटर में फुटबॉल के साथ वॉलीबॉल और तीरंदाजी के खिलाड़ी इसी मैदान पर अभ्यास करते हैं। जब खिलाड़ी अभ्यास करते हैं तो मैदान का नियमित रूप से रखरखाव होता है, लेकिन कोरोनाकाल में सभी खिलाड़ी वापस घर भेज दिए गए हैं तो मैदान की स्थिति बेहद खराब हो गई है।

गैलेरी का रंग उड़ा

सब्जी मंडी बंद होने के बाद मैदान पर चारों तरफ गंदगी का आलम है। एक तो हर तरफ घास हो गई है, साथ ही गड्ढों के कारण कीचड़ भी हो गई है। गैलेरी की हालत भी बहुत ज्यादा खराब है। कई सालों से रंग-रोगन न कराने के कारण गैलरी का जहां रंग उड़ गया है, वहीं सफाई न होने के कारण गैलरी में काई जम गई है। यहां पर लंबे समय से कोई आयोजन भी नहीं हुआ है।

सब्जी मंडी के कारण खराब

साई के पास मैदान जाने के बाद इसको किसी दूसरे उपयोग के लिए बहुत कम दिया जाता है। ऐसे में मैदान ठीक स्थिति में था, लेकिन इधर कोरोनाकाल में मैदान में अचानक यहां सब्जी मंडी लगा दी गई। जब यहां बाजार लगा, तो मैदान पर लगातार भारी वाहन भी आने शुरू हुए। इस कारण मैदान में जगह-जगह गड्ढे भी हो गए हैं। साई के अधिकारियों ने इस मामले में कलेक्टर से शिकायत भी की थी, तब कलेक्टर ने मैदान को ठीक कराने का आश्वासन दिया, लेकिन अभी कोरोना के कहर के कारण मैदान को ठीक नहीं कराया जा सका है।

अभी मेंटेनेंस करने का मतलब नहीं है। अभी तो अभ्यास पर पूरी तरह से कोरोना के कारण रोक है। जैसे ही रोक हटेगी और हमारे खिलाड़ी घरों से वापस आएंगे तो मैदान का मेंटेनेंस करेंगे। हमारे पास अपनी मशीनें हैं, इसलिए कोई परेशानी नहीं होगी।

- गीता पंत, प्रभारी, साई सेंटर

Next Story