Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आंदोलन : रसोइयों का जत्था रायपुर के लिए रवाना, सीएम हाउस घेराव समेत उग्र प्रदर्शन की तैयारी

आंदोलन : रसोइयों का जत्था रायपुर के लिए रवाना, सीएम हाउस घेराव समेत उग्र प्रदर्शन की तैयारी
X

राजधानी में इन दिनों आए दिन आंदोलन जारी हैं। कभी पंचायतकर्मी आंदोलन करते हैं, तो कभी मितानीन आंदोलन पर दिखती हैं। आंगनवाड़ीकर्मियों का एक आंदोलन आज से शुरू हुआ है, जो 16 तक चलेगा। इधर प्रदेश के रसोइयों ने भी आंदोलन का रूख अख्तियार कर लिया है। लंबे समय से 1200 रूपए मानदेय में काम करने वाले रसोइयों ने इस बार राजधानी में उग्र आंदोलन की तैयार कर ली है। वे राजधानी के लिए पैदल कूच कर चुके हैं। पढ़िए पूरी खबर-

महासमुंद। महासमुंद जिले से हजारों की संख्या में रसोइया पैदल चलकर राजधानी पहुंच रहे हैं। मानदेय में वृद्धि की मांग को लेकर वे सभी 11 दिसंबर को राजधानी के बूढ़ापारा में आंदोलन करने वाले हैं। आंदोलनकारी रसोइयों ने बताया कि वे सीएम हाउस का घेराव करेंगे।

मात्र 1200 रूपए मासिक मानदेय पर काम करने वाले छत्तीसगढ़ के रसोइए मानदेय में वृद्धि की मांग पिछले लंबे समय से कर रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें अपेक्षित मानदेय नहीं दिए जाने के कारण वे आंदोलित हो चुके हैं। महासमुंद जिले रसोइयों का एक जत्था गत 8 दिसंबर से राजधानी के लिए रवाना हो चुका है। इसमें बड़ी संख्या में महिलाएं और पुरुष शामिल हैं। छत्तीसगढ़ रसोइया संघ की महासमुंद जिला अध्यक्ष नीतू ओगरे ने बताया कि वे मानदेय में वृद्धि की मांग को लेकर सीएम हाउस का घेराव करने वाले हैं। उन्होंने बताया कि 8 दिसंबर को वे रवाना हुए हैं। 8 दिसंबर की रात उन्होंने रसनी में रूककर गुजारा। 9 दिसंबर की सुबह चलकर वे मंदिर हसौद पहुंचे। मंदिर हसौद में उन्हें भाजपा नेताओं का समर्थन मिला है। उनकी मांगों को भाजपा ने जायज ठहराते हुए सरकार से पूरी करने की मांग की है। अध्यक्ष नीतू ओगरे ने बताया कि वे आज यानी 10 दिसंबर की रात तक राजधानी के सप्रे शाला मैदान पहुंचेंगे। रातभर मैदान में ठहरने के बाद वे 11 दिसंबर की सुबह सीएम हाउस का घेराव करेंगे। नीतू ने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ से लगभग 20 हजार रसोइए इस आंदोलन में शामिल होने के लिए रवाना हो चुके हैं। देखिए जत्थे का एक वीडियो-

Next Story