Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तनाव घटने के बाद छत्तीसगढ़ आने लगी चाइना से मोबाइल की एसेसरीज, फिर भी धंधा 40 फीसदी मंदा

पार्ट्स पर महंगाई के साथ कम आवक की भी मार

तनाव घटने के बाद छत्तीसगढ़ आने लगी चाइना से मोबाइल की एसेसरीज, फिर भी धंधा 40 फीसदी मंदा
X

रायपुर. मोबाइल के कारोबार में अब एक राहत की खबर यह है कि चाइना और भारत के बीच तनाव कम होने के बाद वहां से एसेसरीज और पार्ट्स की आवक होने लगी है, लेकिन जहां यह आवक बहुत कम है, वहीं अब माल भी महंगा हो गया है। इसके पीछे का कारण यह है कि एक्साइज ड्यूटी में भी करीब दस फीसदी का इजाफा हो गया है। पहले जिस माल में जीएसटी के साथ ड्यूटी मिलाकर 31 फीसदी टैक्स लगता था, उस पर अब करीब 40 फीसदी टैक्स लग रहा है। मोबाइल का कारोबार तो पूरी तरह से चाइना पर ही निर्भर है। जब कोरोना ने अपने देश में पैर पसारने प्रारंभ ही किए थे, तभी से मोबाइल का कारोबार प्रभावित हुआ है।

चाइना में कोरोना के कहर के कारण वहां से माल की आपूर्ति बंद होने से फरवरी से ही बाजार पर इसका असर पड़ने लगा था। फरवरी में मोबाइल कारोबार 25 से 30 फीसदी प्रभावित हो गया था। इसके बाद मार्च में तो यह पूरी तरह से मंद पड़ गया था। अप्रैल का पूरा माह और मई में 20 दिनों तक कारोबार नहीं हुआ। मई के अंतिम सप्ताह से कारोबार प्रारंभ हुआ है, लेकिन चाइना से मॉल की आवक न होने के कारण बाजार में सन्नाटा रहा।

अब लौटने लगी बाजार में रौनक

कारोबारी बताते हैं, जब करीब दो माह के लॉकडाउन के बाद बाजार खुला तो पहले सप्ताह बाजार में अच्छी रौनक रही और खूब बिक्री हुई, लेकिन इसके बाद कारोबार मंदा पड़ गया। इसके पीछे का कारण कारोबारी यह बताते हैं, एक तो नए मोबाइल लांच नहीं हो रहे थे, साथ ही किसी भी तरह की नई एसेसरीज भी नहीं आ रही थी। ज्यादातर मोबाइल और एसेसरीज चाइना से आती है। वहां से माल की सप्लाई न होने के कारण कारोबार प्रभावित हो रहा था। वहां से मॉल का आना इसलिए भी प्रभावित हुआ क्योंकि चाइना और भारत के बार्डर पर तनाव बढ गया था। लेकिन अब तनाव में जैसे ही कमी आई है तो वहां से मॉल आने लगा है।

ज्यादा माल मंगाने से परहेज

कारोबारी कहते हैं भले चाइना से माल की सप्लाई होने लगी है, लेकिन जिस तरह से देश में चाइना के सामनों का बहिष्कार का माहौल चल रहा है, उसको देखते हुए वहां से ज्यादा माल मंगाने से कोई खतरा मोल लेना नहीं चाहता है। बड़े व्यापारी जो सीधे चाइना से मॉल मंगाते थे, वे देश के दूसरे शहरों के व्यापारी से जरूरत के मुताबिक माल मंगा रहे हैं।

भारतीय एसेसरीज का भी बढ़ा बाजार

चाइना के सामनों के बहिष्कार के आव्हान के कारण मोबाइल बाजार में भारत में बनने वाले चार्जर और बैटरी के साथ कुछ और आइटमों का कारोबार बढ़ गया है। इसी के साथ मोबाइल के मामले में चाइना के अलावा दूसरे देशों के मोबाइल की तरफ ग्राहकों का रूझान हुआ है। ऐसे में चाइना के मोबाइल का कारोबार 20 फीसदी तक प्रभावित हुआ है।

आ रहा है माल

चाइना से जनवरी में जो माल आने वाला था, उसके साथ नया माल भी आने लगा है। माल आने से बाजार में थोड़ी रौनक लौट रही है, लेकिन अब भी कारोबार सामान्य दिनों की तुलना में 40 फीसदी कम है।

- जय नानवानी, अध्यक्ष, रवि भवन व्यापारी संघ

Next Story