Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

4 महीनों बाद मिली नाबालिग, फरवरी में हुआ था अपहरण

भिलाई में एक अज्ञात आरोपी एक नाबालिग का अपहरण कर उसके परिजनों को फोन करके डरा-धमकाकर रुपयों की डिमांड कर रहा था। परिजनों ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी और काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी और नाबालिग को ढूढ़ लिया। पढ़िए पूरी खबर-

किडनैपिंग के बाद 4 साल के बच्चे के साथ हैवानियत, बोरी में मिला शव
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

दुर्ग। जिले के भिलाई में एक नाबालिग के अपहरण होने के बाद परिजनों ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी और नाबालिग को ढूढ़ लिया है। परिजनों ने बताया कि वह फरवरी से नाबालिग को डरा-धमकाकर उनसे रूपयों की डिमांड कर रहा था।

जानकारी के मुताबिक मामला भिलाई के खुर्सीपार थाना क्षेत्र का है, जहां एक अज्ञात आरोपी ने पहले नाबालिग का अपहरण किया और फिर उसे अपने साथ उड़ीसा ले गया। उसके बाद वो उसके परिजनों को फोन करके डरा-धमकाकर रुपयों की डिमांड कर रहा। परिजनों ने खुर्सीपार पुलिस थाने में इस सम्बन्ध में रिपोर्ट दर्ज करायी।

पुलिस ने बताया कि 14 फरवरी 2021 को नाबालिग के परिजनों ने थाने में अपनी बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखायी थी। जिसके बाद पुलिस टीम ने उसकी पतासाजी शुरू कर दी। पुलिस उस फोन नंबर को ट्रैक करके आरोपी को तलाश रही थी जिस नम्बर से आरोपी फिरौती की मांग करता था, लेकिन वो हर बार उन्हें हर बार चकमा दे देता था।

काफ़ी मशक्कत के बाद आखिरकार पुलिस ने आरोपी का पता लगा ही लिया। ट्रैकिंग के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी सुंदरगढ़ (ओड़िशा) में छिपा हुआ है, जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर आरोपी को पकड़ लिया और नाबालिग को भी बरामद कर लिया। आरोपी का नाम मोहम्मद यासीन है और वह मूलतः बिहार के कटिहार का रहने वाला है।

Next Story