Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भीड़ में खड़ी सुबक रही थी लोकेश्वरी, फिर मिला ऐसा मददगार कि खिल उठा उसका मुखड़ा...

हजारों की भीड़ में से लोग अपनी-अपनी बात मुख्यमंत्री के सामने रख रहे थे। इस भीड़ में एक बेटी सुबक रही थी, उसकी आंखों से आंसू बह रहे थे, कोई भी ध्यान नहीं दे रहा था। लेकिन मुख्यमंत्री ने भीड़ में रोती हुई बेटी को देख लिया। फिर क्या हुआ पढ़िए पूरी खबर...

भीड़ में खड़ी सुबक रही थी लोकेश्वरी, फिर मिला ऐसा मददगार कि खिल उठा उसका मुखड़ा...
X

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इन दिनों अपने भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत बस्तर की जनता से रूबरू हो रहे हैं। इसी कड़ी में सीएम बघेल गुरुवार को भैंसागांव ग्राम पंचायत पहुंचे। यहां हजारों की भीड़ में से लोग अपनी-अपनी बात मुख्यमंत्री के सामने रख रहे थे। इस भीड़ में एक बेटी सुबक रही थी, उसकी आंखों से आंसू बह रहे थे, कोई भी ध्यान नहीं दे रहा था। लेकिन मुख्यमंत्री ने भीड़ में रोती हुई बेटी को देख लिया। इसके बाद श्री बघेल ने लोकेश्वरी नाम की बिटिया को अपने पास बुलाया, उसके सिर पर हाथ फेरा और उसे पानी पिलाया। उसने मुख्यमंत्री से बात की और बताया कि उसके पिता की 15 साल पहले मौत हो चुकी है। घर ना होने की वजह से अपनी मां और भाई के साथ अपने मामा के घर रहने को मजबूर है। आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से वो और उसका भाई पढ़ाई भी नहीं कर पा रहे हैं, क्योंकि घरेलू कार्यों में मां की मदद करनी पड़ती है।

सीएम ने की आर्थिक मदद

इस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल लोकेश्वरी की मदद की। मदद के लिए आवेदन की आवश्यकता थी तो बस्तर जिले के सचिव ने उसका आवेदन अपने हाथों से लिखा और मुख्यमंत्री को दिया। मुख्यमंत्री ने इस आवेदन पर तत्काल कार्यवाही करते हुए लोकेश्वरी को 3 लाख रुपए की आर्थिक मदद स्वीकृत दी। इसके बाद रोती हुई लोकेश्वरी अपने चेहरे पर मुस्कान और आंखों में विश्वास की चमक लेकर वापस लौटी।





और पढ़ें
Next Story