Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रमोशन ना मिलने से लेक्चरर्स नाराज: उठाया ये कठोर कदम...

लेक्चरर्स (Lecturers) को प्रिंसिपल (principal) के पद पर प्रमोट किया जाना था। पिछले कई सालों से यह प्रमोशन रुका हुआ है। सरकारी नियमों के मुताबिक प्रमोशन ना मिलने पर उसके लेवल की सैलेरी दी जाती है, अब वह भी नहीं मिल रही। इसे लेकर सरकारी स्कूल में काम करने वाले तमाम लेक्चरर क्लासरूम छोड़कर धरना स्थल (protest site) में नारेबाजी करते नजर आए। पढ़िए बड़ी ख़बर...

प्रमोशन ना मिलने से लेक्चरर्स नाराज: उठाया ये कठोर कदम...
X

रायपुर: राजधानी के सरकारी स्कूल में काम करने वाले तमाम लेक्चरर क्लासरूम छोड़कर धरना स्थल में नारेबाजी करते नजर आए। इन शिक्षकों ने हड़ताल कर दी और इनका साथ देने प्रदेश के अलग-अलग जिलों से स्कूल शिक्षक रायपुर पहुंचे हैं। कई जिलों से सैकड़ों लेक्चरर्स रायपुर आ कर हड़ताल में अपना समर्थन देते नजर आए।

छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ (Chhattisgarh Lecturers Association) के बैनर तले हुए इस हड़ताल और धरना प्रदर्शन में रायपुर जिले के अध्यक्ष अरुण साहू ने बताया कि 500 से अधिक लेक्चरर रिटायर हो रहे हैं, जबकि इन्हें प्रमोशन दिया जाना था। सरकारी प्रणाली में अनदेखी की वजह से इन शिक्षकों को उनका हक मिले इसकी लड़ाई हम लड़ रहे हैं। लेक्चरर्स को प्रिंसिपल के पद पर प्रमोट किया जाना था। पिछले कई सालों से यह प्रमोशन रुका हुआ है। व्याख्याता संघ के पदाधिकारियों ने बताया इस प्रदर्शन के दौरान लेक्चरर्स अपना मांग पत्र (letter of demand) भी सरकार के हवाले कर रहे हैं। समय रहते अगर इनकी मांग पूरी नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में स्कूलों का काम बंद कर लेक्चरर से लंबे समय पर हड़ताल के लिए जा सकते हैं। सरकारी नियमों के मुताबिक प्रमोशन ना मिलने पर उसके लेवल की सैलेरी दी जाती है, अब वह भी नहीं मिल रही। सभी प्रदर्शनकारियों ने मांग करते हुए कहा कि लेक्चरर को 14% डीए और 31% महंगाई भत्ता भी दिया जाए। प्रचार्यों को उपसंचालक (vacant post of Deputy Director.) के रिक्त पद पर प्रमोट किया जाए।

Next Story