Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ग्रेडिंग बचाने रविवि का प्राध्यापकों को निर्देश, संगोष्ठी में भाग लें और किताबें लिखें

अगले वर्ष होनी है नैक ग्रेडिंग, रविवि ने अभी से शुरू की तैयारी

ग्रेडिंग बचाने रविवि का प्राध्यापकों को निर्देश, संगोष्ठी में भाग लें और किताबें लिखें
X

रायपुर. पं. रविशंकर शुक्ल विवि ने अगले वर्ष होने वाली नैक ग्रेडिंग के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। पिछले वर्ष रविवि को नैक टीम पे ए ग्रेडिंग प्रदान की थी। रविवि इस ग्रेडिंग को बनाए रखने अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहा है।

इसके लिए सालभर पहले ही विभिन्न विभागों की बैठक, समीक्षा, सुधार सहित अन्य चीजें शुरू कर दी गई हैं। गत दिनों रविवि द्वारा सभी विभागों के प्राध्यापकों की बैठक ली गई। इसमें उन्हें कई बिंदुओं पर कार्य करने कहा गया। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, प्राध्यापकों से कहा गया है कि वे व्यक्तिगत रूप से नैक में अच्छी ग्रेडिंग के लिए योगदान दें। साल में कम से कम एक राष्ट्रीय संगोष्ठी तथा तीन साल में एक अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में हिस्सा लेने, कोई किताब लिखने अथवा किसी किताब में कोई अध्याय लिखने, किसी शैक्षणिक समिति का सदस्य बनने, शोध छात्रों का मार्गदर्शक अथवा सह-मार्गदर्शक बनने भी सुझाव दिए गए हैं।

अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों पर जोर

गौरतलब है कि प्राध्यापकाें की उपलब्धियों के लिए भी नैक में अंक निर्धारित होते हैं। स्थानीय स्तर पर रविवि के प्राध्यापकों द्वारा आयोजनों में हिस्सा लिया जाता रहा है, लेकिन राष्ट्रीय औ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्राध्यापकों का प्रदर्शन अपेक्षाकृत कमजोर है। बैठक में अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों, संगोष्ठियों, शोधपत्र में प्रकाशन जैसी चीजों को प्राथमिकता दी गई। इसके अलावा प्रशासन संबंधित कार्यों में भी सार्थक योगदान देने कहा गया है।

इधर रविवि की वेबसाइट ठप

रविवि द्वारा कुछ दिन पूर्व ही नई वेबसाइट लांच की गई है। पुराने वेबसाइट में कई तरह की दिक्कतें आ रही थीं। रविवि ने लगभग सभी सुविधाएं ऑनलाइन कर दी हैं, लेकिन पुरानी वेबसाइट इसके अनुरूप नहीं थी। इसके कारण रविवि ने वेबसाइट को अपडेट करते हुए नई वेबसाइट दो भाषाओं में लॉन्च की। अन्य सुविधाएं भी इस वेबसाइट के जरिए छात्रों को दी गई है, लेकिन रविवि की यह नई वेबसाइट पिछले कुछ दिनों ठप पड़ी हुई है। कई बार यत्न करने के बाद भी यह नहीं खुल रही है। छात्र किसी भी चीज के लिए आवेदन नहीं कर पा रहे हैं और ना ही किसी तरह की जानकारी उन्हें मिल पा रही है।

Next Story