Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भोपाल : पुलिस की बात नजरअंदाज, नतीजा- धड़ाधड़ हो रही सेंधमारी और चोरियां

2 दिन में 5 चोरियों की 4 पुलिस थानों में ऐसी रिपोर्ट, जिनमें टूटे घरों के ताले, सूने मकानों की सूचना नहीं दी पुलिस को…भोपाल पुलिस ने 1 साल पहले कराई थी मुनादी कि लोग अपने थाने पर सूने मकान की सूचना देकर जाएंगे तो पुलिस की बीट गस्त टीम उस घर की निगरानी करेगी…लेकिन लोग नहीं माने। पढ़िए पूरी खबर-

भोपाल : पुलिस की बात नजरअंदाज, नतीजा- धड़ाधड़ हो रही सेंधमारी और चोरियां
X

भोपाल। अगर आप अपने मकान पर ताला डालकर कुछ दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं, तो इसकी सूचना अपने क्षेत्र के थाने में दे जाएं, ताकि पुलिस उसकी सुरक्षा रख सके, उस पर निगरानी रखी जाए। ऐसी मुनादी भोपाल पुलिस ने 1 साल पहले कराई थी, लेकिन इस ओर लोग ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसका नतीजा है कि सूने मकानों के ताले रोज टूट रहे हैं। 'हरिभूमि' ने भोपाल के 4 थानों में 2 दिन के भीतर दर्ज 5 चोरियों का रिकॉर्ड खंगाला तो स्पष्ट हुआ कि लोग बिना सूचना के घर पर ताला लगाकर चले गए और चोरों ने ताले तोड़कर लाखों का माल पार कर दिया। पांचों मामलों में जब पुलिस से बात कि गई तो चारों थानों के रजिस्टरों में सूने मकान छोड़कर जाने की कोई सूचना दर्ज नहीं कराई गई थी।

केस - 1

हनुमान गंज थाना पुलिस ने 16 सितम्बर को फरियादी गफ्फार खान निवासी काजी कैंप गली नंबर 5 की चोरी की रिपोर्ट दर्ज की है कि उनके मकान का ताला तोड़कर अज्ञात चोर सोने चांदी के जेवरात पार कर ले गए। पुलिस ने बताया कि सूने मकान की सूचना पहले से थाने पर नहीं दी गई थी।

थाना प्रभारी की सुनें

हनुमान गंज थाना प्रभारी महेंद्र सिंह ठाकुर ने हरिभूमि को बताया कि लोग सूने मकान को छोड़कर जाने की सूचना थाने पर नहीं दे रहे हैं, वरना वारदात से बचा जा सकता है। गफ्फार खान ने भी कोई सूचना नहीं दी। रिपोर्ट लिखकर चोरों को तलाश रहे हैं।

केस - 2

नजीराबाद थाना पुलिस ने 17 सितम्बर को गढ़ा खुर्द निवासी नारायण अहिरवार की रिपोर्ट लिखी है कि उनके घर से 20 जुलाई और 28 अगस्त के बीच अज्ञात चोरों ने मकान का ताला तोड़कर सोने चांदी के आभूषण और 4 क्विंटल गेहूं चोरी कर लिए।

थाना प्रभारी की सुनें

नजीराबाद थाना प्रभारी बीपी सिंह बेस ने बताया कि इतने महीने मकान सूना रहा, लेकिन नारायण ने थाने पर सूचना नहीं दी, उन्हें रिश्तेदारों से चोरी का पता चला। और भी लोग सूने मकान पर ताला लगाने की सूचना नहीं देे रहे हैं।

केस - 3

मंगलवारा थाना पुलिस ने 16 सितम्बर को पटेल नगर निवासी आबिदा बी की ओर से रिपोर्ट लिखी है कि उनके मकान का ताला तोड़कर अज्ञात चोर नगदी 20000 हजार रूपए व मोबाइल चोरी कर ले गए। पुलिस ने बताया कि फरियादिया ने सूने मकान की कोई पूर्व सूचना नहीं दी।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

मंगलवारा थाना प्रभारी संदीप पवार ने 'हरिभूमि' से चर्चा में स्पष्ट किया कि लोग सूना मकान छोड़कर जाने की कोई सूचना थाना पुलिस को नहीं डे रहे हैं।

केस - 4

गांधी नगर थाना पुलिस ने द ब्लेयर कोलोनी ब्लाक सी निवासी गोविंद स्वामी की रिपोर्ट 17 सितम्बर को दर्ज की है कि अज्ञात चोर मकान का ताला तोड़कर माल चोरी कर ले गए। पुलिस ने बताया कि गोविंद स्वामी ने सूने मकान की कोई पूर्व सूचना थाने पर नहीं दी।

केस - 5

गांधी नगर थाना पुलिस ने 16 सितम्बर को पिंकी जैसवाल की रिपोर्ट दर्ज की हुए कि 28 अप्रैल से 15 सितम्बर के बीच उनके मकान की टीन की चादर हटाकर चोरी की गई। जिसमें चोर सोने की झुमकी समेत टेलीविजन, पानी की मोटर, गेस, सिलाई मशीन व पंखा आदि चोरी कर ले गए। पुलिस ने बताया कि घर मालकिन ने सूने मकान की कोई पूर्व सूचना नहीं दी थी।

ज्यादातर थानों का यही हाल

केवल इन 4 पुलिस थानों में ही नहीं, बल्कि अधिकतर थानों में सूने मकानों की कोई सूचना घर मालिकों द्वारा नहीं को जा रही है, जिससे चोरियां बढ़ रही हैं।

डीआईजी की सुनें

भोपाल शहर रेंज डीआईजी इरशाद वली का कहना है कि अगर कोई अपना सूना मकान छोड़कर ताला लगाकर बाहर जा रहा है तो इसकी सूचना पुलिस थाने पर देने से पुलिस को पता रहेगा कि यह घर सूना है इसलिए इसकी खास निगरानी रखी जानी है। इसमें लोगों का ही फायदा है कि पुलिस उनके मकान की निगरानी करेगी। इसलिए लोगों को इस ओर जागरूक होना चाहिए।

Next Story