Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दूसरे प्रदेश की सस्ती शराब चुनाव के माहौल में महंगे में खपाने की थी तैयारी, बीरगांव में 53 पेटी जब्त

चुनावी शराब(CheapLiquor) पकड़ाई। बीरगांव और उरला से लगे स्लैग क्रेसिंग फैक्ट्री में 53 पेटी शराब ठिकाने लगाया गया था। जांच के दौरान तस्कर रामअवतार रात्रे के बारे में पता चला। रामअवतार के ठिकाने में दबिश देकर उसे हिरासत में लिया गया। इसके बाद दूसरे राज्य में निर्मित शराब के बड़े भंडारण की जानकारी मिली। पढ़िए पूरी ख़बर...

दूसरे प्रदेश की सस्ती शराब चुनाव के माहौल में महंगे में खपाने की थी तैयारी, बीरगांव में 53 पेटी जब्त
X

रायपुर: बीरगांव में नगरीय निकाय चुनाव का फायदा उठाकर दूसरे राज्य की शराब (CheapLiquor) खपाने की तैयारी का बड़ा खुलासा हुआ है। आबकारी टीम ने उरला क्षेत्र की एक फैक्ट्री में बाहर से लाए गए स्टॉक में से 53 पेटी गोवा ब्रांड की शराब जब्ती की है। जांच में खुलासा हुआ है कि बाहरी कोचियों की तरफ से शौकीनों को ड्राई डे में शराब मुहैया कराने स्टॉक मंगवाए गए थे। 120 रुपये का पव्वा 150 से लेकर 200 रुपये तक खपाने की तैयारी थी। इसी बीच मुखबिर से सूचना मिलने के बाद तुरंत एक ठिकाने में छापेमारी करते हुए कोचिया और उसकी निशानदेही पर शराब स्टॉक जब्त किया गया।

आबकारी विभाग के मुताबिक बीरगांव और उरला से लगे स्लैग क्रेसिंग फैक्ट्री में 53 पेटी शराब ठिकाने लगाया गया था। जांच के दौरान तस्कर रामअवतार रात्रे (SmugglerRamavatarRatre) के बारे में पता चला। रामअवतार के ठिकाने में दबिश देकर उसे हिरासत में लिया गया। इसके बाद दूसरे राज्य में निर्मित शराब के बड़े भंडारण की जानकारी मिली। तुरंत आबकारी की टीम बताए गए ठिकाने पर पहुंची और वहां से स्टॉक जब्त किया। पूछताछ में रामअवतार ने बताया, नगरीय निकाय चुनाव (Elections) का फायदा उठाने के लिए उसने बाहर से स्टॉक जुटाए थे। मध्यप्रदेश के बिचौलियों के माध्यम से शराब की पेटियां मंगवाई थी। इसके पहले लॉकडाउन के दौरान लोगों को सस्ती शराब को दोगुना कीमत में बेचते देखने के बाद उसने चुनाव में भी फायदा उठाने की प्लानिंग की थी। इसलिए बिचौलियों के कहने पर उसने स्टाक मंगवा लिया। वह चुनाव के ठीक एक दिन पहले स्टाक बेचने की फिराक में था। आबकारी जिला उपायुक्त अरविंद नेताम ने बताया, बीरगांव चुनाव को देखते हुए उन्होंने अपनी खुफिया टीम क्षेत्र में सक्रिय की है। इसी के परिणाम स्वरूप आबकारी दस्ते को एक ठिकाने में शराब रखे जाने की सूचना मिली। तुरंत दबिश देकर उसे पकड़ा गया। उपायुक्त ने बुधवार को आरोपी के जेल दाखिल करा देने की जानकारी दी।

वरिष्ठ अफसरों को रिपोर्ट, रतजगा भी। इसी कड़ी में सभी सर्किल अफसरों की ड्यूटी फिक्स कर दी गई है। खासकर बीरगांव चुनाव के लिए प्रभारी अफसरों की देर रात तक ड्यूटी तय कर दी गई है। उपायुक्त आबकारी अनिमेष नेताम ने बताया, बड़े स्टॉक टेकिंग की सूचना एक दिन पहले मिल गई थी। जिस जगह में स्टॉक डंप किया गया था, उसके सप्लाई होने के पहले मुखबिर तैनात कर दिए थे। आशंका थी कि चुनावी माहौल में शराब खपाने वाले जरूर संपर्क करेंगे। इसी कड़ी में श्याम चौक में लगाए गए नाका में अहम इनपुट मिला। यहां से लीड करने पर उमिया मार्केट बीरगांव में अग्रसेन कटिंग फैक्ट्री का पता चला। एकाएक छापेमारी के दौरान यहां से फेक्टरी संचालक रामअवतार रात्रे की निशानदेही से 53 पेटी शराब जब्ती की।

Next Story