Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एकलव्य स्कूल में 400 बच्चे 2 महिला गार्ड के भरोसे, बच्चों की सुरक्षा नहीं होने के मुद्दे पर भड़के पालकों ने घेरा स्कूल कैंपस

एकलव्य स्कूल की समस्याओं का निराकरण नहीं होने से जिलेभर से करीब ढाई सौ की संख्या में पहुंचे आक्रोशित पालकों ने शनिवार को स्कूल के सामने 2 घंटे तक धरना प्रदर्शन किया। समाधान और निराकरण नहीं होने पर पालकों ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। ढाई सौ पालकों ने 12 से शाम 4 बजे तक धरना प्रदर्शन किया। पढ़िए पूरी ख़बर...

एकलव्य स्कूल में 400 बच्चे 2 महिला गार्ड के भरोसे, बच्चों की सुरक्षा नहीं होने के मुद्दे पर भड़के पालकों ने घेरा स्कूल कैंपस
X

राजनांदगांव: एकलव्य आदर्श अवासीय विद्यालय पेंड्री में पढ़ने वाले बच्चों के पालकों ने बताया कि पालक समिति गठन के बाद संस्था प्रबंधन के साथ 19 सितंबर को बैठक हुई। जिसमें विभिन्न समस्याओं का समाधान करने की मांग की गई थी। जिसमें अधूरा आहता निर्माण को सुरक्षागत कारणों से पूर्ण कराने, पेयजल समस्या को दूर करने, कर्मचारी रूम में जिलेभर का हॉस्टल सामग्री को हटाने, संस्था अंतर्गत कर्मचारियों को कार्यालय में निवास कराने, बच्चों की गणवेश नाप अनुसार उपलब्ध कराने की मांग शामिल है।

पेयजल की विकराल समस्या

ड्राय एरिया होने के कारण एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय पेंड्री में आज भी पेयजल की समस्या बनी हुई है। यहां जिलेभर के करीब 400 बच्चे पढ़ते हैं। पहले निगम के टैंकरों से पानी की आपूर्ति की जाती थी, जो अब जरूरत अनुसार नहीं होती। दो महिला गार्ड है, लेकिन पुरूष गार्ड की नियुक्ति नहीं हो सकी है। शनिवार को धरना प्रदर्शन में शामिल होने जिलेभर से आदिवासी समुदाय के लोग यहां पहुंचे थे। तहसीलदार से आश्वासन मिलने पर कलेक्टर को ज्ञापन सौंप धरना स्थगित किया। पालक समिति के अध्यक्ष रमेश हिड़ामे, लालचंद, हरिराम तुलामे, कमलेश उईके सहित बड़ी संख्या में पालकगण उपस्थित थे।

बच्चों की सामग्री चोरी

कोविड-19 के दौरान हॉस्टल को कोविड सेंटर बनाया गया था। इस दौरान वहां से बच्चों की सामग्री चोरी हो गई थी। पालकों ने इस नुकसान की क्षतिपूर्ति दिलाने, एकलव्य आदर्श अवासीय विद्यालय में सुरक्षा गार्ड की मांग, पालक प्रतिक्षा कक्ष की मांग, विशेष कोचिंग क्लास, भोजन के लिए नियत समय में राशन सामग्री की मांग, संस्था के नाम से पदस्थ कर्मचारियों को अन्यत्र संस्था में संलग्न किया गया, उन्हें वापस बुलाने, कम्प्यूटर शिक्षा अनिवार्य करने, संस्था में स्वच्छ खेल मैदान की मांग की गई थी।

Next Story