Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकार से नहीं मिला बारदाना तो करेंगे आंदोलन, किसान संघ ने सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

जिला किसान संघ(District Farmers Union) ने कड़ा रूख अख्तियार किया है। किसानों से बारदाना(gunny bags) लेने की नीति का विरोध करते हुए किसानों में नाराजगी है। जिला किसान संघ ने बताया कि धान खरीदी में प्रशासन का पूरा सहयोग किया जाएगा। लेकिन किसान से बारदाना लेने की नीति का पूरजोर विरोध किया जाएगा। पढ़िए पूरी ख़बर...

सरकार से नहीं मिला बारदाना तो करेंगे आंदोलन, किसान संघ ने सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
X

राजनांदगांव: किसानों से 25 प्रतिशत बारदाना लेने की नीति के तहत धान खरीदी का शुभारंभ होते ही जिला किसान संघ ने कड़ा रूख अख्तियार किया है। विगत दिनों किसानों ने कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा से मुलाकात कर मुख्यमंत्री के नाम एक सूत्रीय ज्ञापन(memorandum) सौंपा। किसानों ने कहा कि किसानों से बारदाना लेने की नीति परेशानी भरा निर्णय एवं किसान विरोधी है, जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

किसानों ने इस नीति के प्रति असहमति जताते पूरे बारदाने की व्यवस्था पूर्व वर्षाें की भांति शासन द्वारा किए जाने की एक सूत्रीय मांग (one point demand) की गई है। तत्काल व्यवस्था दुरस्त नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है। कलेक्टर से चर्चा के दौरान प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि किसान ने 25 प्रतिशत बारदाना देने के निर्णय को मौन रहकर स्वीकार कर लिया तो आगे पूरा बारदाना किसान से मांगा जाएगा। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी में प्रारंभ से ही बारदाने की जिम्मेदारी शासन की है। इसे किसानों के हिस्से में डालने की किसान विरोधी नीति स्वीकार नहीं हैै। भूपेश सरकार तत्काल किसान विरोधी नीति वापस ले और व्यवस्था दुरूस्त करे अन्यथा किसानों द्वारा निर्णायक आंदोलन किया जाएगा।

निगरानी समिति का गठन

सरकार से नहीं मिला बारदाना तो किसान करेंगे आंदोलन, ब्लाॅक स्तर पर निगरानी समितियों का गठन करेंगे। निगरानी समिति के सदस्यों के नाम व मोबाइल नंबर खरीदी केन्द्रों एवं गांवों में चस्पा किए जाएंगे। इन नंबरों पर किसान किसी भी प्रकार की असुविधा, सूचना व राय साझा कर सकेंगे।

निगरानी समिति में

  1. राजनांदगांव ब्लॉक हरिशचंद्र साहू
  2. छुरिया में मदन नेताम
  3. डोंगरगढ़ में मोती सिन्हा
  4. खैरागढ़ में उमेश वर्मा
  5. छुईखदान में साधूराम धुर्वे
  6. चौकी में धरमपाल
  7. डोंगरगांव में भीमसेन साहू
  8. मानपुर में बालसिंह आचला
  9. मोहला में अर्जुन मंडावी शामिल हैं।
  10. किसानों को मिला आश्वासन

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने किसानोें की इस मांग को राज्य शासन तक पहुंचाने का अश्वासन दिया। प्रशासन स्तर पर किसी प्रकार की कठिनाई होने पर उसे तुरंत दूर किया जाएगा। जिला प्रशासन की मंशा बताते कहा कि पूरे अमले को निर्देश दिया गया है कि किसान को धान बेचते खुशी का अनुभव होना चाहिए, ऐसी हमारी व्यवस्था हो।

Next Story