Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अजायबघर बना बीरगांव का मकान नंबर 382- इस पते पर दर्ज हैं 350 वोटरों के नाम

एक बूथ में 990 वोटर, तीन मकानों में ही 600 का ठिकाना, अफसरों के मुंह सिले, बीरगांव नगर निगम के चुनाव में वार्ड नंबर 28 अब्दुल रउफ वार्ड के गाजीनगर का मकान नंबर 382 अजायबघर हो गया है। यहां की मतदाता सूची में करीब 350 वोटरों का पता इसी मकान नंबर का है। हरिभूमि इस मकान की जांच करने पहुंचा तो वह केवल दो मंजिला निकला। पढ़िए पूरी ख़बर..

अजायबघर बना बीरगांव का मकान नंबर 382- इस पते पर दर्ज हैं 350 वोटरों के नाम
X

रायपुर: हरिभूमि ने इसकी पड़ताल प्रारंभ की और सबसे पहले मतदाता सूची लेकर देखी को इसमें कई तरह के चौंकाने वाले तथ्य नजर आए। मसलन, वार्ड नंबर 28 के रायपुर पब्लिक स्कूल के बूथ की सूची में 990 मतदाता हैं। इसमें से आधे से ज्यादा वोटर तीन मकानों में ही रहते हैं। मतदाता सूची में मकान नंबर 382 ऐसा है जिसमें सबसे ज्यादा वोटरों के पते लिखे हुए हैं। गाजीनगर जाने पर वहां पर एक मकान 382 नंबर का दिखा जो दो मंजिला है। इसमें कुछ परिवर रहते हैं। इसी तरह से एक बेकरी को भी 382 नंबर का बताया जा रहा है। 382 नंबर के मकान में मकान मालिक का नाम लिखा हुआ है। बाहर से देखने पर लगता नहीं कि इस छोटे से मकान में 350 वोटर रहते होंगे, यह तार्किक तौर पर संभव भी नहीं दिखता।

जिनके नाम उनको जानते ही नहीं

वोटर लिस्ट से मिलान किया तो पाया कि इस पते पर ही शर्मा, खान, साहू, देवांगन, गुप्ता, अग्रवाल सहित कई वर्गों के परिवार के रहने की जानकारी दी गई है। आसपास के लोगों ने बताया यहां दस या बारह लोग ही रहते होंगे। ऐसे ही दो मकान और हैं, 383 और 384 जिनमें करीब 250 वोटरों के पते लिखे गए हैं। इसमें एक में बेकरी चलती है। खौफ ऐसा है कि कोई मुंह खोलने को तैयार नहीं।

हरिभूमि ने गाजीनगर में पड़ताल की और लोगों से उनके नाम पूछे जिनके नाम 382, 383 और 384 नंबर के मकान के पते के साथ मतदाता सूची में लिखे हैं तो इनको जानने वाला कोई नहीं मिला। और तो और लोगों ने 383 और 384 नंबरों के बारे में अनभिज्ञता जताई कि ये मकान हैं। किसी को मालूम ही नहीं है कि ये मकान नंबर कहां हैं। एक 382 नंबर का ही मकान मिला, जो दो मंजिला है। उसी में सबसे ज्यादा वोटर बताए गए हैं। जांच करने पर आसपास के लोग छितर जाते हैं। यहां तक चुनाव लड़ने वाले और चुनाव लड़ रहे लोग भी इस मसले पर खामोश हो जाते हैं।

ऐसा समाजवाद और कहां... खान, शर्मा, गुप्ता, देवांगन साहू, अग्रवाल, यादव सब साथ

382 नंबर के मकान के नाम से ही करीब 350 वोटरों का पता लिखा गया है। इसमें ज्यादातर जहां मुस्लिम समाज के लोग हैं, वहीं इसी पते पर जफीर खान, शकीना खातून, विजय शर्मा, संदीप गुप्ता, महावीर चौधरी, पुष्पा ध्रुव, त्रिवेणी ठाकुर, यशोदा देवांगन, राकेश सेन, नेहा सिंह, प्यारेलाल, भगली बाई यादव, प्रीति कुशवाहा, कृष्णा राठौर, अनिता गुप्ता सहित कई नाम हैं। कुल मिलाकर अलग-अलग हिस्सों में 350 वाेटरों का एक ही पता है। मतदाता सूची में तो आधा दर्जन से ज्यादा ऐसे पेज हैं जिनमें लाइन से 382 नंबर के मकानों के पते के साथ वोटरों के नाम हैं।

Next Story