Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धड़ल्ले से हो रही उड़ीसा से गांजा तस्करी, 26 लाख के गांजे के साथ 3 गिरफ्तार

आइसर ट्रक में गांजा लेकर उड़ीसा से मुम्बई जा रहे थे आरोपी, एक महिला व दो पुरुष शामिल।

धड़ल्ले से हो रही उड़ीसा से गांजा तस्करी, 26 लाख के गांजे के साथ 3 गिरफ्तार
X

महासमुंद। ओडिशा से गांजा तस्करी थमने का नाम ही नहीं ले रही। तस्कर बड़ी मात्रा में गांजा ओडिशा से अन्य प्रदेश में तस्करी कर रहे हैं। ये कभी अनानास से भरी बोरियों में तो कभी वाहन में मिर्च से भरे बोरियों के नीचे रखकर तस्करी कर रहे हैं। इसी कड़ी में कोमाखान पुलिस ने 5 क्विंटल 20 किलो गांजे के साथ तीन गांजा तस्कर को गिरफ्तार किया है। जब्त किये गये गांजे की कीमत 26 लाख रूपये बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि आरोपी आइसर ट्रक में गांजा लेकर उड़ीसा से मुम्बई जा रहे थे।

कोमाखान थाना क्षेत्र में पुलिस ने तीन गांजा तस्करों को पकड़ा है, जिनमें से एक महिला व दो पुरुष हैं। आरोपियों में शोएब अहमद, अब्दुल रसीद, मुम्बई महाराष्ट्र के है और महिला सुल्ताना माजिद पालघर महाराष्ट्र की है। ये लोग आइसर ट्रक से गांजा लेकर उडीसा से मुम्बई महाराष्ट्र जा रहे थे। पुलिस ने इन आरोपियों से 26 लाख का गांजा बरामद किया है, जिसका वजन 5 क्विंटल 20 किलो बताया जा रहा है इसके अलावा एक आइसर ट्रक, 4,200 रूपये नगद जब्त किया है। आरोपियों पर पुलिस धारा 161 20 (ख) नारकोटिक एक्ट के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही कर रही है।

बता दें इसके पहले बागबाहरा पुलिस टीम को गांजा तस्कर गिरोह को पकड़ा था, साथ ही तीन वाहनों से 400 किलो गांजा जब्त किया था, जब्त गांजा की कीमत 40 लाख आंकी गई थी। मामले में पुलिस ने चार आरोपियों के साथ दो अपचारी बालकों को पकड़ा था। ये सभी ओडिशा के जयपुर (कोरापुट) से गांजा लेकर रायपुर जा रहे थे, लेकिन 90 किमी पहले ही बागबाहरा पुलिस ने इन्हें धर दबोचा।

उन्होंने बताया कि तस्करों का मास्टरमाइंड संतोष दौरा उनकी पकड़ में आया है जो पूर्व में भी डकैती व अन्य मामलों में ओडिशा की जेल में सजा काट चुका है। पकड़े गए आरोपितों में दो अपचारी बालक हैं जो तस्करी में गिरोह का साथ दे रहे थे। पुलिस से बचने गिरोह ने इन्हें अपने साथ रखा था। पुलिस ने बताया कि गिरोह के एक वाहन के पीछे दूसरा वाहन चल रहा था। जिसमें सवार आरोपित पायलेटिंग कर गिरोह के लोगों को सतर्क कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि पहली कार को रोककर पूछताछ की तो पूरा गिरोह पकड़ा गया।

Next Story
Top