Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माशाल्लाह ये भी गजब है, जिला शिक्षा अधिकारी ने ही अर्धवार्षिक परीक्षा प्रश्नपत्र कर दिया लीक...!

शासकीय विद्यालय की अर्धवार्षिक परीक्षा भी मजाक का विषय बन गया है. परीक्षा की गोपनीयता तार-तार हो चुकी है. गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने जिला शिक्षा अधिकारी पर गोपनीयता भंग करने का आरोप लगाया है.

माशाल्लाह ये भी गजब है, जिला शिक्षा अधिकारी ने ही अर्धवार्षिक परीक्षा प्रश्नपत्र कर दिया लीक...!
X

मुंगेली. शासकीय विद्यालय की अर्धवार्षिक परीक्षा भी मजाक का विषय बन गया है. परीक्षा की गोपनीयता तार-तार हो चुकी है. गवर्नमेंट एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने जिला शिक्षा अधिकारी पर गोपनीयता भंग करने का आरोप लगाया है.

संगठन के प्रांत अध्यक्ष कृष्ण कुमार नवरंग ने आरोप लगाया कि जिला शिक्षा अधिकारी सतीश पांडेय ने स्कूल शिक्षा विभाग के महत्वाकांक्षी योजनाओं को लागू करने के बजाय निजी एजेंडा को लागू करने नित नए प्रयोग से सभी प्रधान पाठक व प्राचार्य को प्रतिदिन मीटिंग या अन्य माध्यमों से दबाव बना परेशान करता है.

स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार माह दिसम्बर में कक्षा 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों का अर्धवार्षिक परीक्षा लिया जाना है. 15 दिसंबर से परीक्षा आयोजित करने टाइम टेबल जिला शिक्षा अधिकारी मुंगेली ने जारी कर विषय के व्याख्याता से प्रश्न पत्र छाँटकर जिला स्तर से प्रश्न पत्र उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया था.

ज्ञात हो शासन के नियमों के अनुसार प्रश्न पत्र सील कर लिफाफा में बंद कर परीक्षा के आधे घंटे के पूर्व दो छात्रों के हस्ताक्षर के बाद ही ओपन करने का नियम है. परंतु जिला शिक्षा अधिकारी मुंगेली ने मनमानी पूर्वक 15 दिसंबर को आयोजित होने वाली कक्षा 9वीं से 12वीं तक के प्रश्न पत्र को प्राचार्य शाला संकुल विकास खंड मुंगेली व्हाट्सएप ग्रुप में कक्षा वार पीडीएफ फ़ाइल बनाकर 11 दिसम्बर को वायरल कर दिया.

साथ ही ज्ञात हो उक्त ग्रुप में लगभग 150 से अधिक शासकीय व अशासकीय कर्मचारियों के साथ विद्यालय के प्रभारी भी जुड़े हैं. जिसके कारण परीक्षा जैसे संवेदनशील कार्य में लापरवाही की गई और गोपनीयता भंग करने का कारनामा खुद जिला शिक्षा अधिकारी मुंगेली सतीश पांडे ने किया है. विदित हो एक माह पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी ने तिमाही परीक्षा का आयोजन एक दिन पूर्व ही मौखिक निर्देश देकर आनन-फानन में परीक्षा आयोजित करवाया था.

Next Story