Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

घनघोर लापरवाही : दस निरीक्षकों के साथ मृत आरक्षक का भी कर दिया तबादला

कोरबा जिले से एक चौंकाने वाला मामला समने आया है। यहां 10 निरीक्षकों के साथ एक मृत आरक्षक का भी तबादला कर दिया गया है। जबकि इस आरक्षक की करीब छह माह पहले एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है। आखिर कैसे हुई गड़बड़ी... पढ़िए पूरी खबर...

घनघोर लापरवाही : दस निरीक्षकों के साथ मृत आरक्षक का भी कर दिया तबादला
X

कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से एक चौंकाने वाला मामला समने आया है। यहां 10 निरीक्षकों के साथ एक मृत आरक्षक का भी तबादला कर दिया गया है। जबकि इस आरक्षक की करीब छह माह पहले एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है। मृत आरक्षक का तबादला मुंगेली जिले में किया गया है। बता दें कि पुलिस मुख्यालय रायपुर ने 318 पुलिस कर्मियों का अंतरजिला तबादला किया है। इसमें कोरबा के दस निरीक्षक समेत 13 पुलिस कर्मी प्रभावित हुए हैं। जिले में लंबे समय से जमे नगर निरीक्षकों का तबादला कर दिया गया है, पर उनके स्थान पर तीन निरीक्षकों को भेजा गया है।

पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा ने मंगलवार को राज्य के पुलिस अधिकारियों की तबादला सूची जारी की है। इसमें कोरबा जिले में पदस्थ निरीक्षक हरीशचंद्र तांडेकर को बिलासपुर, रामेन्द्र कुमार सिंह को राजनांदगांव, राजेश कुमार पटेल जांजगीर-चांपा, लीलाधर प्रसाद राठौर को बस्तर, लखनलाल पटेल को रायपुर, पौरूष कुमार पूर्रे को बिलासपुर, विजय कुमार चेलक को बस्तर, राकेश मिश्रा को गरियाबंद, गायत्री शर्मा साहू को बालोद, भावना खंडारे को बेमेतरा स्थानांतरित किया गया है। वहीं उपनिरीक्षक रहसलाल डहरिया को गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, प्रधान आरक्षक अवधेश यादव को जांजगीर-चांपा जिला भेजा गया है। इनके स्थान पर निरीक्षक तेज प्रताप यादव जांजगीर से कोरबा, चमन लाल सिन्हा रायगढ़ से कोरबा तथा अश्वनी कुमार राठौर रायपुर से कोरबा भेजा गया है। कोरबा जिले में पदस्थ आरक्षक तस्लीम आरीफ खान की मौत बीते वर्ष नवंबर माह में एक सड़क दु्‌र्घटना में हो गई। बताया जा रहा है कि उन्होंने अंतरजिला तबादला के लिए पहले आवेदन किया था। आरक्षक के मौत हो जाने की जानकारी रायपुर मुख्यालय को नहीं थी, लिहाजा उसका भी नाम तबादला सूची में शामिल है।





और पढ़ें
Next Story