Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राज्यपाल ने भूपेश और रमन को भेजी राखी, सीएम ने जताई खुशी

राज्यपाल अनुसुईया उइके ने रक्षाबंधन के पावन पर्व पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को राखी और मिठाई भेजकर रक्षाबंधन की शुभकामनाएं एवं उनके स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवन की कामना की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राखी को स्वीकार करते हुए कहा है कि रक्षाबंधन तथा भुजलिया पर्व के अवसर पर आपने मुझे स्नेह आशीर्वाद तथा राखी भेजकर जो विश्वास व्यक्त किया है, वह मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता तथा सम्मान का विषय है।

राज्यपाल ने भूपेश और रमन को भेजी राखी, सीएम ने जताई खुशी
X

रायपुर. राज्यपाल अनुसुईया उइके ने रक्षाबंधन के पावन पर्व पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को राखी और मिठाई भेजकर रक्षाबंधन की शुभकामनाएं एवं उनके स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवन की कामना की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राखी को स्वीकार करते हुए कहा है कि रक्षाबंधन तथा भुजलिया पर्व के अवसर पर आपने मुझे स्नेह आशीर्वाद तथा राखी भेजकर जो विश्वास व्यक्त किया है, वह मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता तथा सम्मान का विषय है।

रक्षाबंधन का यह पर्व हमारे पारिवारिक संबंधों को नए शिखर पर पहुंचाने का माध्यम बना है। उन्होंने कहा है कि यह पावन पर्व हमारी संस्कृति के गरिमामय उत्कर्ष का प्रतीक भी है, जो बहनों के प्रति भाइयों के उत्तरदायित्वों के संकल्पों को सदृढ़ बनाता है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने पत्र के माध्यम से धन्यवाद देते हुए रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि इस पवित्र त्योहार पर ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि आप स्वस्थ रहें, दीर्घायु रहें एवं भविष्य में नई ऊंचाइयों को प्राप्त करें।

राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को भेजी गोबर और बांस से बनी राखी

राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि उनके द्वारा राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को स्थानीय उत्पादों और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए आदिवासी एवं ग्रामीण महिलाओं द्वारा बनाई गई गोबर और बांस की राखी भेजी है। प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत बनाने के संकल्प लेने का आव्हान किया है। कोरोनाकाल में हमें स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पादों को बढ़ावा देना चाहिए, ताकि हमारी अर्थव्यवस्था सशक्त हो सके। राज्यपाल शनिवार को लोक संस्कृति मंच राष्ट्रगाथा संस्था द्वारा 'स्नेह बंधन त्योहार और संस्कृति-स्वास्थ्य-स्वरक्षा' विषय पर आयोजित वेबिनार में शामिल हुईं।

उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन का पर्व भाई और बहन के मध्य प्रेम का प्रतीक है। इस अवसर पर भाई, बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। कोरोना के संक्रमण के समय यह पवित्र त्योहार आया है। इस अवसर पर यह प्रयास करना है कि अपने उत्साह में कोई कमी न आने दें, पर हम त्योहार मनाते समय विशेष सावधानी रखें। साथ ही कोरोना वायरस से रक्षा करने का संकल्प लें। राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा है कि जान है तो जहान है। हम सबको कोरोना वायरस के संक्रमण से सावधान रहने की आवश्यकता है। राज्यपाल ने कहा कि रक्षाबंधन हमारे प्रमुख त्याेहारों में से एक है। यह स्नेह का, प्यार का, आर्शीवाद का, रक्षा के वादे का बंधन है। हमारी संस्कृति ही वसुधैव कुटुंबकम की है, सर्वे भवन्तु सुखिनः की है। हमारी परंपरा हमें सिखाती है कि सभी का कल्याण हो और सभी स्वस्थ और सुखी रहें। इस दौरान पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा, सांसद शंकर लालवानी, गायिका मालिनी अवस्थी ने भी अपना संबोधन दिया। इस मौके पर मंजुषा राजस जौहरी तथा अन्य नागरिक उपस्थित थे।

Next Story
Top