Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

16 दिन पहले जारी आदेश पर शासन ने किया संशोधन, एयरपोर्ट पर अब आरटीपीसीआर रिपोर्ट जरुरी नहीं

रोजाना डेढ़ हजार से ज्यादा यात्रियों की जांच के बाद भी एक भी पॉजिटिव नहीं मिलने और आरटीपीसीआर की अनिवार्यता रद्द करने संबंधी हरिभूमि में प्रकाशित खबर का असर हुआ है। राज्य शासन ने 16 दिन पहले जारी आदेश में संशोधन करते हुए एयरपोर्ट में हवाई यात्रियों के लिए वैक्सीन की दोनों डोज के प्रमाण-पत्र को भी मान्य कर दिया गया है। अब यात्रा के 96 घंटे के भीतर आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट केवल वैक्सीन प्रमाणपत्र नहीं रखने वालों के लिए जरुरी होगी।

रायपुर एयरपोर्ट का हो सकता है निजीकरण, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने की अनुशंसा
X
Raipur Airport may be privatized, Airport Authority of India recommends

रायपुर. रोजाना डेढ़ हजार से ज्यादा यात्रियों की जांच के बाद भी एक भी पॉजिटिव नहीं मिलने और आरटीपीसीआर की अनिवार्यता रद्द करने संबंधी हरिभूमि में प्रकाशित खबर का असर हुआ है। राज्य शासन ने 16 दिन पहले जारी आदेश में संशोधन करते हुए एयरपोर्ट में हवाई यात्रियों के लिए वैक्सीन की दोनों डोज के प्रमाण-पत्र को भी मान्य कर दिया गया है। अब यात्रा के 96 घंटे के भीतर आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट केवल वैक्सीन प्रमाणपत्र नहीं रखने वालों के लिए जरुरी होगी।

राज्य शासन ने 8 अगस्त को आदेश जारी कर फ्लाइट से आने वाले सभी यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट अथवा एयरपोर्ट में ही कोरोना जांच को आनिवार्य कर दिया था। यात्रा के नियम में की गई इस सख्ती का सीधा असर पिछले पंद्रह दिन से आवाजाही करने वाले यात्रियों की संख्या पर पड़ा और सीधे दो से ढाई हजार यात्री कम हो गए थे। एयरपोर्ट में रोजाना करीब डेढ़ हजार लोगों की जांच हो रही थी मगर एक भी पॉजिटिव नहीं मिल रहा था। बदले हालात को देखते हुए राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डा. कमलप्रीत सिंह ने सोमवार को इस मामले में संशोधित आदेश जारी कर दिया। इसमें जिक्र है कि वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र रखने वालों को निगेटिव रिपोर्ट की आवश्यकता नहीं होगी। जिन यात्रियों ने अपना वैक्सीनेशन नहीं करवाया है उन्हें निगेटिव रिपोर्ट लेकर ही सफर करना होगा।

दो फीसदी कम यात्री

निगेटिव रिपोर्ट लागू होने से पहले स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट से दो से आठ अगस्त के बीच 28 हजार 84 लोगों ने अपनी यात्रा पूरी की थी। आठ अगस्त से सख्ती के बाद दूसरे शहरों से आने वाले यात्रियों की संख्या कम हो गई और नौ से पंद्रह अगस्त के बीच 27 हजार 32 यात्रियों ने आवाजाही की। लगातार दूसरे सप्ताह यात्रियों की संख्या में गिरावट आई। 16 से 22 अगस्त के बीच 26 हजार 568 यात्रियों ने सफर किया। एयरपोर्ट के संचालक राकेश आर. सहाय का मानना है कि नियम में संशोधन होने के बाद यात्रियों की संख्या में एक बार फिर से वृद्धि हो सकती है।

एयरपोर्ट में भी होगी जांच

स्वास्थ्य विभाग की पूर्व व्यवस्था के तहत जो यात्री निगेटिव रिपोर्ट अथवा वैक्सीन का प्रमाणपत्र लेकर नहीं आएंगे उनकी एयरपोर्ट में ही एंटीजन टेस्ट के साथ आरटीपीसीआर के लिए सैंपल लिए जाएंगे। विमानतल पर यह व्यवस्था पहले से लागू थी। मगर 8 अगस्त से सख्ती अधिक होने की वजह से जांच बढ़ गई थी। आदेश के पहले एयरपोर्ट में दो सौ से ज्यादा जांच में दूसरे शहरों से लौटे 84 लोगों को पॉजिटिव पाया गया था।

Next Story