Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गोलबाजार के दुकानदारों को लीज पर मिलेगा मालिकाना हक, नहीं टूटेगी किसी की दुकान

100 साल पुराने प्रदेश ऐतिहासिक गोेलबाजार के दुकानदारों को अब दुकान का मालिकाना हक मिलेगा। नगर निगम के किराएदार रहे 900 से ज्यादा कारोबारियों को उसी स्थान पर बिना तोड़फोड़ किए व्यवस्थित किया जाएगा।

गोलबाजार के दुकानदारों को लीज पर मिलेगा मालिकाना हक, नहीं टूटेगी किसी की दुकान
X

रायपुर. 100 साल पुराने प्रदेश ऐतिहासिक गोेलबाजार के दुकानदारों को अब दुकान का मालिकाना हक मिलेगा। नगर निगम के किराएदार रहे 900 से ज्यादा कारोबारियों को उसी स्थान पर बिना तोड़फोड़ किए व्यवस्थित किया जाएगा। इसके लिए महापौर एजाज ढेबर ने गुरुवार को प्रथम बैठक में 150 दुकानदारों को राय-मशविरा करने निगम मुख्यालय में आमंत्रित किया। चर्चा के दौरान उन्होंने व्यापारियों से पूछा कि शासन के दिशा-निर्देश पर दुकानदारों को लीज पर मालिकाना हक देना चाहते हैं, इस संबंध में आपका क्या कहना है? इस पर कुछ व्यापारियों ने सुझाव दिया, कोरोनाकाल में चूंकि उनका व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुआ है, फिलहाल पैसे की तंगी है, इसलिए कुछ समय तक इसे न करें।

पांच दौर की होगी बैठक : गोलबाजार को स्मार्ट बनाकर व्यापारियों को मालिकाना हक देने की मुहिम में पांच दौर की बैठक अलग-अलग व्यापारियों के समूह के साथ होगी। पहली बैठक में गोलबाजार के 150 व्यापारियों को चर्चा के लिए आमंत्रित किया गया, जिसमें 110 व्यापारी शामिल हुए। महापौर एजाज ढेबर ने इस मौके पर स्पष्ट रूप से कहा, गोलबाजार किसी भी व्यापारी को परेशान करना नगर निगम का उद्देश्य कतई नहीं है, बल्कि इसे स्मार्ट बाजार बनाकर निगम प्रशासन सुविधायुक्त बाजार बनाना चाहता है, जिसमें किराएदार व्यापारियों को मालिकाना हक दिया जाएगा। यदि किसी व्यापारी के मन में गोलबाजार योजना के बारे में शंका है तो खुलकर अपनी बात कहें।

टायलेट, पानी, बिजली व्यवस्था हो दुरुस्त

महापौर एजाज ढेबर के समक्ष व्यापारियों ने गोलबाजार क्षेत्र में सार्वजनिक प्रसाधन की कमी, पानी, बिजली और सफाई की सुविधा बढ़ाने का आग्रह किया।

तीन दिन तक 50-50 व्यापारियों के समूह के साथ होगी चर्चा

बाजार के 968 व्यापारियों में से 50-50 व्यापारी समूह में महापौर एजाज ढेबर, राजस्व विभाग अध्यक्ष अंजनी-राधेश्याम विभार, उपायुक्त राजस्व आरके डोंगरे, जोन 4 कमिश्नर विनय मिश्रा, सहायक राजस्व अधिकारी बलदाऊ वर्मा की उपस्थिति में तीन दिन तक बैठक लेंगे और उनके सुझाव, सहमति के आधार पर गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने की योजना पर काम करेंगे।

कोरोनाकाल में आर्थिक दिक्कत

बैठक में शामिल गोलबाजार के व्यापारियों ने अपनी परेशानी बताते हुए कहा, कोविड काल में मालिकाना हक के लिए एकमुश्त बड़ी रकम कहां से लाएंगे? इस समय व्यापार मंदी के दौर से गुजर रहा है, इसलिए इसे कुछ समय के लिए न करें। बाजार विभाग के उपायुक्त आरके डोंगरे ने सुझाव दिया कि जवाहर बाजार के व्यापारियों की तर्ज पर नगर निगम से एनओेसी लेकर बैंक से लोन लेकर इस कार्य को किया जा सकता है। लीज पर मालिकाना हक शासन के दिशा-निर्देश पर होना तय है।

Next Story